महिलाओं के लिए अलसी के फायदे | 7 amazing Benefits of flaxseed for women in Hindi

0
123

महिलाओं के लिए अलसी के फायदे और उपयोग (Benefits of flaxseed for women in Hindi)

Benefits of flaxseed for women in Hindiअलसी के बीज जिसे इंग्लिश में फ्लैक्सीड (Flaxseed) के नाम से जाना जाता है। दुनिया भर में ज्यादातर लोग अलसी का सेवन इसके फायदों के कारण करते हैं। लेकिन आप इस बात से अनजान होंगे, यह छोटा सा दिखने वाला बीज महिलाओं के लिए काफी लाभदायक है। अलसी का बीज महिलाओं के स्किन, बालों से लेकर हेल्थ जुड़ी समस्याओं के लिए लाभदायक है। अलसी के बीज में कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं।

इसमें प्रचुर मात्रा में ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है। इसके अलावा इसमें कैल्शियम, आयरन, पोटेशियम, फास्फोरस और एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं। इसीलिए महिलाओं के लिए अलसी का सेवन करना फायदेमंद हो सकता है। आज हम आपको अलसी खाने के फायदे क्या हैं? किस समय अलसी खाना अच्छा होता है? अलसी गर्मियों में कैसे खाएं? अलसी खाने का सही तरीका क्या है? और इससे जुड़ी जानकारी आसान हिंदी शब्दों में बताएंगे। आइए नीचे की ओर देखता है, यह महिलाओं के लिए किस प्रकार थे फायदेमंद हो सकता है।

Benefits Of Flaxseed For Women In Hindi
Benefits of flaxseed for women in Hindi

अलसी की पूरी जानकारी के लिए पढ़ें Click Here

महिलाओं के लिए अलसी के फायदे (Benefits of flaxseed for women in Hindi)

1. स्किन के लिए लाभदायक 

beneficial for skin– अलसी में प्रचुर मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट मौजूद होता है। जो स्किन के लिए काफी उपयोगी तथा फायदेमंद माना जाता है। प्रतिदिन एक या दो चम्मच अलसी का सेवन करने से स्किन चमकदार होती है।

2. पीरियड के दौरान लाभदायक

profitable during periods– ज्यादातर लड़कियों को अनियमित पीरियड आने की समस्या हो जाती है। वह इस अनियमित पीरियड की समस्या से जूझती रहती हैं। अलसी के बीज का सेवन करने से इस समस्या से बचाव हो सकता है।

3. हार्मोन को ठीक करता है

corrects hormones– जिन महिलाओं के हार्मोन इन बैलेंस की समस्या होती है। अलसी बीज के सेवन से यह परेशानी दूर हो सकती है। इसके सेवन से एस्ट्रोजन हार्मोन लेवल को नियंत्रण करने में मदद मिलती है। इसके अलावा अलसी के बीज का सेवन पीसीओडी की समस्या भी दूर करने में सहायक है।

4. फर्टिलिटी बढ़ाने में मददगार

Helpful in increasing fertility– हर महिला का सपना मां बनने का होता है। लेकिन कई महिलाएं ऐसी भी होती हैं। जिन्हें बेबी कंसीव करने में दिक्कते आती हैं। अलसी बीच का सेवन करने से कंसीव करने की क्षमता या फर्टिलिटी को बढ़ाने में सहायता मिलती है।

5. महिलाओं के पाचन में लाभदायक

Beneficial in digestion of women- ऐसी महिलाएं जिन्हें गैस अपच एसिडिटी या कब्ज की समस्या बनी रहती है। उनके लिए अलसी के बीज का सेवन करना लाभदायक है। क्योंकि इसमें फाइबर की अच्छी सी मात्रा पाई जाती है। जो पाचन से जुड़ी समस्याओं को दूर करने में मददगार है।

6. वजन नियंत्रण करने में मददगार

Help to weight control– अलसी के बीज में उच्च मात्रा में ओमेगा 3 फैटी एसिड और फाइबर मौजूद होता है। जो वजन को नियंत्रण करने में उपयोगी माना जाता है। इसीलिए वजन नियंत्रण करने के लिए महिलाएं अलसी प्रयोग कर सकते हैं।

7. डायबिटीज में लाभदायक

beneficial in diabetes- अलसी का बीज मधुमेह नियंत्रण करने में सहायक माना जाता है। ऐसे में डायबिटीज महिलाओं के लिए अलसी का सेवन करना फायदेमंद हो सकता है।

 अलसी खाने का सही तरीका क्या है? (what is the right way to eat flaxseed in hindi?)

  • रात भर एक चम्मच अलसी के बीज को पानी में भिगोकर रख दें। सुबह खाली पेट इसे चबाकर खाएं या इसे स्मूदी में  डालकर सेवन कर सकते हैं।
  • अलसी बीज को मंदी आंच पर तावा रखकर भूलें। ठंडा होने के बाद आप इसका सेवन  कर सकते हैं।
  • अलसी के बीज का सेवन करने के कई तरीके हैं। आप इसका सेवन गार्निशिंग करके किसी ड्रिंक में डालकर भी कर सकते हैं।
  • अलसी के बीज का सेवन दाल सब्जी आदि में डालकर भी किया जा सकता है।

FAQ

अलसी गर्मियों में कैसे खाएं?

गर्मियों के मौसम में अलसी को रात भर भिगोकर छोड़ दें। इन भीगी हुई अलसी को आप अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। क्योंकि अभी प्राकृतिक रूप से गर्म होती है। इसलिए पित्त प्राकृतिक वाले लोग इसके सेवन से बचें।

क्या अलसी गर्म होती है?

जी हां अलसी प्राकृतिक रूप से गर्म होती है। इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से पेट की समस्या बढ़ सकती है।

खाली पेट अलसी खाने से क्या होता है?

सुबह खाली पेट अलसी के सेवन से लीवर हेल्दी रहता है। इसके सेवन से फैटी लीवर से जूझ रहे लोगों को आराम मिलता है। यह लिवर से जुड़ी कोई समस्या को दूर करने में मदद करता है।

1 दिन में कितनी अलसी खानी चाहिए?

एक चम्मच हल्दी पाउडर हल्के गर्म पानी के साथ सुबह के समय ले सकते हैं। 1 दिन में दो चम्मच से अधिक आरती का सेवन ना करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here