हल्दी के फायदे | 15 amazing benefits of turmeric

0
149

हल्दी का उपयोग फायदे और नुकसान

दोस्तों आज का हमारा विषय आपको हल्दी के फायदे बताना है हल्दी एक ऐसा गुणकारी आहार है। जो हर रसोई में पाया जाता है। इसका इस्तेमाल मसाले के रूप में आने का स्वाद वारंग बढ़ाने के लिए किया जाता है। इसके अलावा हल्दी के औषधीय गुण कई बीमारियों को ठीक करने का काम करते हैं। ऐसे में आप हल्दी का सेवन करते हैं। तो यह आपको कई बीमारियों से बचा सकता है। आइए नीचे की ओर चलते हैं और विस्तार से जानते हैं। हल्दी क्या है और हल्दी के क्या फायदे (haldi ke fayde) हैं।

हल्दी के फायदे
हल्दी के फायदे

1. हल्दी क्या है (what is turmeric in Hindi)

हल्दी एक मसाला और जड़ी बूटी है। यह कुरकुमा लोंगा पौधे की जड़ से पैदा होता है। यह अदरक परिवार में एक बारहमासी होता है। करक्यूमिन हल्दी का सबसे प्रमुख सक्रिय अंश है। करक्यूमिन हल्दी का रंग पीला करता है।

आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति में हल्दी का प्रयोग कई वर्षों से किया जा रहा है। दोस्तों आयुर्वेद में इसे हरिद्रा के नाम से जाना जाता है। हल्दी भारतीय उपमहाद्वीप और दक्षिण पूर्व एशिया का एक पौधा है। यह बारहमासी पैदा होने वाला पौधा है इस के पौधे में फूल भी आते हैं।

इसके पौधों के लिए 20 से 30 डिग्री सेल्सियस तापमान चाहिए होता है। साथ ही इसके लिए वार्षिक बरसात भी काफी जरूरी है। हल्दी पाउडर का स्वाद खाने में कड़वा व काली मिर्च ऐसा होता है। सुगंध में यह मिट्टी सरसों जैसा होता है।

विशेष तौर पर हल्दी का इस्तेमाल मसालों में किया जाता है। खाने का स्वाद और रंग बढ़ाने के साथ-साथ सर्दी-जुकाम त्वचा रोग और कई बीमारी में हल्दी का इस्तेमाल किया जाता है।

यह भी पढ़े लिवर का रामबाण इलाज

2. हल्दी के फायदे (benefits of turmeric in Hindi)

हल्दी हमारे भोजन को स्वादिष्ट बनाती है इसके अलावा यह हमें बीमारियों से सुरक्षा प्रदान करती है। आइए जानते हैं हल्दी के फायदे।

1 हाथ पैरों का दर्द कम करता है (reduces pain in hands and feet in Hindi)

हाथ पैर के दर्द को कम करने के लिए हल्दी बहुत ही फायदेमंद है। क्योंकि हल्दी में एंटीसेप्टिक और एंटीबायोटिक पाए जाते हैं। जो हाथ पैर में होने वाले दर्द से आराम दिला सकते हैं। यदि आपको ठंड के कारण हाथ पैर में दर्द है, तो ऐसे में हल्दी पाउडर गरम दूध में मिलाकर लेना चाहिए।

2 चोट का घाव भरने में हल्दी के फायदे (Benefits of Turmeric in Healing Wounds in Hindi)

छोटी मोटी चोट व घाव को भरने के लिए हल्दी फायदेमंद होता है। क्योंकि इसमें घाव को भरने के गुण पाए जाते हैं। इसे घाव पर लगाने से बहता खून बंद हो जाता है। इसके अलावा हल्दी चोट की जलन और दर्द को कम करने में सहायक है।

3 हड्डियां मजबूत करता है (strengthens bones in Hindi)

हल्दी वाला दूध हड्डियों की मजबूती के लिए बहुत फायदेमंद होता है। क्योंकि दूध में कैल्शियम पाया जाता है और हल्दी में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले गुण पाए जाते हैं। इसलिए हल्दी वाला दूध पीने से हड्डियां मजबूत होती है। साथ ही हड्डी से संबंधित समस्या दूर होती हैं।

4 रक्त को शुद्ध करता है (purifies the blood in Hindi)

आपको बता दें कि हल्दी के सेवन से रक्त शुद्ध होता है। इसके रोजाना सेवन से रक्त में मौजूद विषैले पदार्थ शरीर से बाहर निकल जाते हैं। जिससे शरीर में रक्त का बहाव भी अच्छा से होता है। खून पतला होने से धमनियों में इसका प्रवाह बढ़ जाता है। जिससे हृदय संबंधित बीमारियां दूर होती हैं।

5 पाचन सुधरता है (improves digestion in Hindi)

पाचन संबंधी समस्या के लिए कच्ची हल्दी का सेवन फायदेमंद हो सकता है। क्योंकि इसमें करक्यूमिन पाया जाता है। जो पेट और पाचन से जुड़ी परेशानियों को ठीक करने में मदद करती है। करक्यूमिन में एंटी एक्सीडेंट और एंटीइंफ्लेमेटरी होता हैं। जो पाचन में सुधार करने में सहायक होते हैं। डायरिया, अपच, गैस की समस्या होने पर कच्ची हल्दी को पानी में उबालकर पीने से लाभ मिलता है।

6 कैंसर से बचाव करता है (protects against cancer in Hindi)

कैंसर से बचाव में हल्दी फायदेमंद हो सकता है। क्योंकि हल्दी में करक्यूमिन नाम का तत्व मौजूद होता हैं। जो कैंसर कोशिकाओं की वृद्धि होने से रोकते हैं। आपको बता दें कि कच्ची हल्दी में एंटीक कैंसर गुण मौजूद होते हैं। यह महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर और पुरुषों में प्रोस्टेट कैंसर से बचाव करते है। लेकिन कच्ची हल्दी खाने से कैंसर का स्थाई इलाज नहीं है। यह कैंसर जैसी समस्या को काफी हद तक कम करता है।

7 लिवर स्वस्थ रखता है (Keeps Liver Healthy in Hindi)

आपको बता दे कि कच्ची हल्दी का आचार व चटनी लीवर के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है। यह फैटी लीवर डिजीज, लीवर की विषाक्तता और लिवर सिरोसिस बीमारीयों को ठीक करने में सहायक है। यदि आप लीवर से संबंधित बीमारी के लिए हल्दी का इस्तेमाल करना चाहते हैं, तो डॉक्टर से परामर्श करने के बाद ही इसका सेवन करें।

8 पायरिया में लाभदायक (beneficial in pyuria in Hindi)

पायरिया एक बहुत ही गंभीर समस्या होती जा रही है। जिसमें व्यक्ति के दांतों से खून आने की समस्या होती है। ऐसे में हल्दी और सरसों के तेल से मालिश करने से लाभ मिलता है। पायरिया की समस्या से निजात पाने के लिए, मालिश करने के बाद गुनगुने पानी से कुल्ला करने से लाभ होगा।

9 अर्थराइटिस व ज्वाइंट पेन के लिए लाभदायक (Beneficial for arthritis and joint pain in Hindi)

अर्थराइटिस तथा ज्वाइंट पेन के लिए हल्दी फायदेमंद हो सकता है बता दें कि हल्दी के सत का सेवन अर्थराइटिस के लक्षणों में जैसे सूजन व दर्द को कम करने में मदद कर सकता है। इसके अलावा शरीर के किसी हिस्से पर दर्द या सूजन हो, तो हल्दी का लेप लगाने से लाभ हो सकता है।

10 मुंह के छाले के लिए फायदेमंद (beneficial for mouth ulcers in Hindi)

मुंह के छाले को ठीक करने के लिए हल्दी फायदेमंद हो सकता है। पाचन क्रिया खराब होने के कारण मुंह में छाले की समस्या देखी जाती है। बता दें कि हल्दी में उष्ण गुण मौजूद होते हैं। जो पाचनग्नि को ठीक करने में मदद मिल सकती है। जिससे मुंह के छाले जल्दी ठीक हो जाते हैं।

11 रंगत निखारने में मददगार (Helpful in enhancing complexion in Hindi)

चेहरे की रंगत निकालने के लिए हल्दी का उपयोग कई वर्षों से किया जा रहा है। क्योंकि हल्दी में दाग, धब्बे मिटाने के गुण पाए जाते हैं। इसका लेप लगाने से चेहरे के कील-मुंहास दाग-धब्बे कम हो जाते हैं। हल्दी का उबटन बनाकर आप शरीर पर लगा सकते हैं।

12 सिर की फुंसी में फायदेमंद (beneficial in head pimple in Hindi)

सिर की फुंसी ठीक करने के लिए हल्दी का इस्तेमाल फायदेमंद हो सकता है। हल्दी, त्रिफला और नीम, चंदन पाउडर का लेप बना लें। इस लेप को फुंसी पर मालिश करने से लाभ मिलता है।

13 कान बहने में आरामदायक (comfortable to blow earsin Hindi)

कान बहने की समस्या में आराम पाने के लिए हल्दी लाभदायक है पानी में हल्दी डालकर उबल लें, इसे छानकर कान में डालने से लाभ होता है।

14 गले की खराश में फायदेमंद (beneficial in sore throat in Hindi)

गले की खराश दूर करने के लिए हल्दी फायदेमंद हो सकती है। हल्दी यवक्षार और चित्रक के २-५ ग्राम चूर्ण लें। इसे एक चम्मच शहद के साथ सेवन करने गले की खराश दूर होती है।

15 दाद और खुजली में फायदेमंद (Beneficial in ringworm and itching in Hindi)

दाद और खुजली से राहत पाने के लिए हल्दी उपयोगी मानी जाती है इसलिए दाद खुजली के प्रभावती स्थान पर इसका लेप लगाने से आराम मिलता है।

3. हल्दी वाले दूध के फायदे (benefits of turmeric milk Hindi)

बहुत लोगों को हल्दी वाला दूध पीना अच्छा नहीं लगता है। लेकिन आज इसके फायदे जानने के बाद आप इसे जरूर पिएंगे।

1 सर्दी जुकाम को दूर करता है (cures cold in Hindi)

सर्दी जुकाम दूर करने के लिए हल्दी वाला दूध पीना फायदेमंद होता है। ऐसे में रात में सोने से पहले आप एक गिलास दूध के साथ हल्दी डालकर पिएं। बता दें कि ठंड के दिनों में हल्दी वाला दूध पीना काफी फायदेमंद होता है। इसे पीने से गले में जमा कफ भी बाहर निकल जाता है।

2 अच्छी नींद लाने में मदद करता है (helps in getting good sleep in Hindi)

ऐसे लोग जिन्हें रात में नींद ना आने की समस्या है। उनके लिए हल्दी वाला दूध पीना फायदेमंद हो सकता है। रात में नींद पूरी ना होने के कारण इसका बुरा असर दिमाग और स्वास्थ्य पर पड़ता है। रात में हल्दी वाला दूध पीने से अनिद्रा की समस्या दूर होती है।

3 ब्लड शुगर नियंत्रण करता है (controls blood sugar in Hindi)

आपको बता दें कि हल्दी वाला दूध ब्लड शुगर कम करने में फायदेमंद है। यदि ब्लड में शुगर की मात्रा अधिक हो जाती है। तो मधुमेह बीमारी का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में हल्दी वाला दूध पीने से ब्लड में शुगर का लेवल कम होता है। आप हल्दी वाले दूध का सेवन सीमित मात्रा में डॉक्टरों की सलाह पर कर सकते हैं।

4 शरीर सुडौल बनाने में मददगार (Helpful in making the body fit in Hindi)

शरीर को सुडौल बनाने में हल्दी वाला दूध मददगार हो सकता है। ऐसे में एक गिलास दूध के साथ थोड़ी हल्दी मिलाकर सुबह लेना चाहिए। जिससे शरीर में फैट कम होता है। साथ ही वजन कम करने में भी मददगार है।

5 पेट का अल्सर ठीक करता है (heals stomach ulcer in Hindi)

पेट के अल्सर को ठीक करने में हल्दी फायदेमंद हो सकता है। क्योंकि हल्दी में हीलिंग पाए जाते हैं, जो पेट का अल्सर ठीक करने में मददगार हैं।

6 हल्दी का उपयोग कैसे करना चाहिए (How to use Turmeric in Hindi)

आप हल्दी का सेवन सप्लीमेंट के रूप में भी कर सकते हैं। इसके अलावा हल्दी का उपयोग मसाले के रूप में भी कर सकते हैं।

करक्यूमिन, सप्लीमेंट्स के रूप में एक बेहतरीन माना जाता है। अगर आप इसे मसाले के रूप में खाना चाहते है तो इसे के प्रकार से प्रयोग कर सकते है।

यदि आपको सप्लीमेंट पसंद नहीं है तो हल्दी का खाने में पकाकर इस्तेमाल करें।

4. हल्दी की सामान्य खुराक कितनी होनी चाहिए (What should be the usual dosage of turmeric in Hindi)

सामान्यतः १ से २ ग्राम हल्दी की खुराक प्रतिदिन ले सकते है। अगर आप किसी बीमारी के लिए हल्दी का इस्तेमाल कर रहे है, तो पहले आयुर्वेदिक डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

5. हल्दी के नुकसान (Disadvantages of Turmeric in Hindi)

हल्दी और करक्यूमिन हमारे लिए फायदेमंद ही होता है। लेकिन इसका सेवन कुछ मामलों में नुकसानदायक भी हो सकता है। यदि आप ज्यादा मात्रा में हल्दी का सेवन करते हैं, तो कुछ संभावित जोखिम हो सकते हैं।

  • बहुत से हल्दी पाउडर में सीसा की उच्च मात्रा हो सकती है। जो एक भारी धातु है तथा तंत्र तंत्रिका के लिए विषाक्त होती है।
  • हल्दी में २% ऑक्सालेट मौजूद होता है। इसकी ज्यादा खुराक लेने से पूर्वनिर्धारित व्यक्तियों में गुर्दे की पथरी का खतरा अधिक होता है।
  • जौ, राई या गेंहू के आटे वाली हल्दी का सेवन से ग्लूटेन असहिष्णुता या सीलिएक रोग वाले लोगों में प्रतिकूल लक्षण दिखाई दे सकते है।
  • अशुद्ध हल्दी सेवन करने से स्वास्थ्य खराब होने की समस्या हो सकती है। क्योंकि सभी हल्दी पाउडर शुद्ध नहीं होते है। यह मिलावटी होने के कारण स्वास्थ्य खराब प्रभाव डालते हैं। ऐसे में हल्दी की शुद्धता का ध्यान जरूर रखें।
  • हल्दी पाउडर में मेटानिल येलो मिला होने के कारण स्वास्थ्य बुरा प्रभाव पड़ सकता है। जिसे ऐसी येलो भी कहा जाता है। इसका अधिक सेवन करने पर पीला कैंसर और तंत्रिका संबंधित क्षति हो सकती है।

6. निष्कर्ष (conclusion)

हमने इस लेख में हल्दी वाले के दूध पीने के फायदे और नुकसान जाने हैं। ऐसे में आप भी हल्दी वाले दूध पीकर इससे होने वाले लाभ ले सकते हैं। क्योंकि हल्दी एक गुणकारी औषधि है। जो आपको कई रोगों से बचा सकती है। इसलिए हल्दी का प्रयोग प्राचीन समय से बहुत सी चीजों में किया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here