Adsense
Home जड़ी बूटी 15 amazing Benefits of Shilajit | शिलाजीत के फायदे हिंदी में

15 amazing Benefits of Shilajit | शिलाजीत के फायदे हिंदी में

0

शिलाजीत के फायदे उपयोग और नुकसान (Benefits of Shilajit)

शिलाजीत पुरुषों के लिए वरदान माना जाता है इसके सेवन से पुरुषों की यौन समस्या में सुधार होता है। 

शिलाजीत हिमालय पर पाए जाने वाला विशेष तरह का प्राकृतिक खनिज पदार्थ है। यह पुरुष और महिला दोनों के लिए ही फायदेमंद है। इसका इस्तेमाल आयुर्वेद चिकित्सा में कई वर्षों से किया जा रहा है। आयुर्वेदिक चिकित्सा में शिलाजीत को विशेष औषधि के रूप में जाना जाता है। यह शरीर को कई प्रकार के रोगों से मुक्त करने में कारगर है। इसके अलावा शिलाजीत शारीरिक कमजोरी को दूर करने में भी फायदेमंद है। आइए जानते हैं शिलाजीत के फायदे हिंदी में क्या क्या है? पुरुषों के लिए शिलाजीत के विशेष गुण उपयोग और नुकसान।

1. शिलाजीत क्या है? (What is Shilajit in Hindi?)

शिलाजीत गाड़ा भूरे रंग का एक विशेष चिपचिपा पदार्थ है। जो मुख्य रूप से पहाड़ों चट्टानों से प्राप्त किया जाता है। इसका रंग सफेद या गाढ़ा भूरा रंग भी हो सकता है। ज्यादातर इसका रंग गाढ़ा बुरा होता है। शिलाजीत का उपयोग कई वर्षों से आयुर्वेदिक चिकित्सा में किया जा रहा है। आयुर्वेद में शिलाजीत एक प्रशंसनीय खनिज या औषधीय है। इसका इस्तेमाल शारीरिक दुर्बलता दूर करने के लिए किया जाता है। यह पुरुषों में प्रजनन क्षमता बढ़ाने तथा कई बीमारियों में प्रयोग किया जाता है।

2. शिलाजीत के फायदे (Benefits of Shilajit in Hindi)

1 ब्लड प्रेशर नियंत्रित करने में मददगार (Helpful in controlling blood pressure in Hindi)

जिन लोगों को हाई  ब्लड प्रेशर की समस्या रहती है। उन लोगों के लिए शिलाजीत का सेवन एक बेहतर विकल्प हो सकता है। क्योंकि इसमें एंटीहाइपरटेंसिव  (anti hypertensive) नाम विशेष गुण पाया जाता है। जो ब्लड प्रेशर को कम व नियंत्रण करने में मदद करता है। आयुर्वेद में भी शिलाजीत का उपयोग हाई बीपी की समस्या के लिए किया जाता है। इन सब बातों को ध्यान रखते हुए यह कहा जा सकता है। शिलाजीत का सेवन हाई ब्लड प्रेशर के लिए फायदेमंद हो सकता है।

2 ऊर्जा बढ़ाने में लाभकारी (beneficial in increasing energy in Hindi)

सदियों से आयुर्वेदिक चिकित्सा में ऊर्जा बढ़ाने और शरीर को पुनर्जीवित करने के लिए शिलाजीत का प्रयोग किया जा रहा है। क्योंकि शीलाजीत शरीर के भीतर माइटोकॉन्ड्रिया को बढ़ाता है। माइटोकॉन्ड्रिया ऐसे अंग होते हैं। जो शरीर में कोशिकाओं को शक्ति देने का कार्य करते हैं। जिससे शरीर को ऊर्जावान बनाने में मदद मिलती है।

3 अर्थराइटिस में आरामदायक (comfortable in arthritis in Hindi)

अर्थराइटिस की समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए शिलाजीत का सेवन फायदेमंद हो सकता है। क्योंकि इसमें में सेलेनियम मौजूद होता है। साथ ही सेलेनियम के कारण इसकी एंटीइंफ्लेमेटरी (anti-inflammatory) गुण सूजन को कम करने में प्रभावी मानी जाती है। 

4 डायबिटीज रोगियों के लिए लाभकारी (beneficial for diabetics in Hindi)

आपको बता दें कि शिलाजीत डायबिटीज के रोगियों के लिए भी बहुत फायदेमंद हो सकता है। क्योंकि शिलाजीत में एंटी-डाइबिटीज (anti-diabetic) गुण पाया जाता है। जो  ब्लड शुगर को कम करने में काफी हद तक मदद करता है।

5 दर्द कम करने में सहायक (aids in pain relief in Hindi)

दर्द को कम करने में शिलाजीत का सेवन फायदेमंद होता है। आयुर्वेद चिकित्सा में भी शिलाजीत की प्रशंसा दर्द कम करने के लिए होती है। यह एक दर्द कम करने वाले एजेंट के रूप में कार्य करता है। जो चेहरे और जबड़े के दर्द से राहत दिला सकता है।

6 कोलेस्ट्रॉल लेवल कम करने में मददगार (Helpful in reducing cholesterol level in Hindi)

बढ़ते कोलेस्ट्रॉल को कम करने में शिलाजीत का सेवन फायदेमंद हो सकता है। क्योंकि शिलाजीत में लिपिक नाम का एक विशेष गुण पाया जाता है। जो कोलेस्ट्रोल ट्रीग्लिसराइड और हाई डेंसिटी लिपॉप्रोटीन सुधार करता है।

7 अल्जाइमर के पेशेंट के लिए फायदेमंद (Beneficial for Alzheimer’s patients in Hindi)

बढ़ती उम्र के साथ-साथ बुजुर्गों को कई प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। जिसमें से एक अल्जाइमर की समस्या भी है। ऐसे में इस समस्या से बचने के लिए, शिलाजीत का सेवन फायदेमंद हो सकता है। शिलाजीत में एंटी अल्जाइमर गुण पाए जाते हैं। साथ ही इसमें फुल्विक एसिड पाया जाता है, जो याददाश्त बढ़ाने में मदद कर सकता है।

8 ह्रदय स्वास्थ्य के लिए लाभकारी (beneficial for heart health in Hindi)

दिल के स्वास्थ्य के लिए शिलाजीत का सेवन फायदेमंद हो सकता है। क्योंकि यह हाई BP और लिपिक प्रोफाइल को नियंत्रण करने में सहायक होता है। यह दोनों कारण हृदय स्वास्थ्य के लिए हानिकारक माने जाते है। एक अध्ययन में यह पाया गया, शिलाजीत अन्य स्वास्थ्य समस्याओं के साथ-साथ हृदय के लिए भी महत्वपूर्ण है।

9 थकान दूर करने में फायदेमंद (beneficial in relieving fatigue in Hindi)

ऐसे व्यक्ति जो थोड़ा सा काम करने के बाद बहुत थकान महसूस करते हैं। इस समस्या से छुटकारा दिलाने शिलाजीत फायदेमंद होता है। क्योंकि इसमें मीनल के साथ-साथ फुलविक और हुमिक एसिड पाया जाता है। जो थकान को दूरकर शरीर को चुस्त-दुरुस्त बनाता है।

10 एनीमिया के खतरे से बचाता है (Prevents the risk of anemia in Hindi)

शरीर में आयरन की कमी होने से एनीमिया जैसी गंभीर बीमारी हो सकती है। जिसका शरीर पर बहुत ही गंभीर परिणाम देखे जा सकता हैं। इस समस्या से बचने के लिए शिलाजीत का सेवन फायदेमंद हो सकता है। क्योंकि शिलाजीत में पर्याप्त मात्रा में आयरन होता है। जो शरीर मे हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने का काम करता है। जिससे एनेमिया के खतरे से बचाने में मदद कर सकता है।

11 बांझपन को दूर कर मर्दानगी बढ़ाता है (Increases manhood by removing infertility in Hindi)

आयुर्वेद में पुरुषों की प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए शिलाजीत का प्रयोग किया जाता है। यह पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन को बढ़ाता है। जिससे यौन से संबंधित हार्मोन बढ़ाने में मदद मिलती है। इसके अलावा ओलिगोस्पर्मिया पुरुषों में स्पर्म कम होना और बैक्टीरियल इनफेक्शन के कारण पुरुष प्रजनन क्षमता में आई कमजोरी ठीक करने में सहायक है।

12 मूत्र से संबंधित समस्या को दूर करता है (Relieves urinary problems in Hindi)

मूत्र संबंधी समस्या को दूर करने के लिए शिलाजीत फायदेमंद हो सकता है। क्योंकि शिलाजीत में इम्यूनोस्ट्यूमुलेंट रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के गुण पाए जाते हैं। जो मूत्र से संबंधित समस्या को दूर करने में मदद करते हैं।

13 एजिंग में फायदेमंद (beneficial in aging in Hindi)

बढ़ती उम्र का असर चेहरों पर झुर्रियों के रूप में दिखने लगता है। शिलाजीत के सेवन से बढ़ती उम्र में होने वाली झुर्रियों को कम किया जा सकता है। क्योंकि इसमें रिजूवनेटिंग गुण पाया जाता है। जो चेहरे को झुर्रियां मुक्त कर तरोताजा बनाने में मदद कर सकता है।

14 दिमाग तेज करता है (sharpens the mind in Hindi)

जिन व्यक्तियों को बार-बार भूलने की शिकायत व याददाश्त कमजोर होती है। उनके लिए शिलाजीत का सेवन फायदेमंद हो सकता है। क्योंकि शिलाजीत में फुल्विक एसिड मौजूद होता है। जो याददाश्त को तेज करने में फायदेमंद हो सकता है।

15 डिमेंशिया की परेशानी दूर करता है (cures dementia in Hindi)

डिमेंशिया भी याददाश्त से संबंधित समस्या है। इसमें व्यक्ति को कुछ भी याद रखने में काफी परेशानी होती है। इसके अलावा इस बीमारी में सोचने समझने की शक्ति भी कम हो जाती है। इस समस्या में शिलाजीत का सेवन करना फायदेमंद हो सकता है। क्योंकि इसमें एंटी ऑक्सीडेंट गुण पाया जाता है। जो याददाश्त क्षमता को बढ़ाने का काम कर सकता है। साथ ही इसका इम्यूनोस्ट्यूमुलेंट रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर तंत्रिका से संबंधित समस्या को ठीक करता है। यह दिमाग में मौजूद विषैले तथा हानिकारक तत्वों को निकालने में मदद कर सकता है।

3. अश्वगंधा की तासीर क्या है (what is the effect of ashwagandha in Hindi)

अश्वगंधा की तासीर गर्म होती है जिन लोगों को सर्दियों में ठंड ज्यादा लगती है। उन्हें अश्वगंधा की चाय लेनी चाहिए।

4. शिलाजीत के नुकसान (disadvantages of shilajit in Hindi)

शिलाजीत का सेवन करने से ऊपर बताए गए सभी समस्या में लाभ होता है। लेकिन अगर इसका जरूरत से ज्यादा अधिक मात्रा में सेवन नही करना चाहिए। क्योंकि इससे अधिक मात्रा में लेने से कुछ दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं। आइए इसको भी जान लेते हैं। पढ़ना जारी रखें

  • 1. शिलाजीत का अधिक मात्रा में सेवन करने से पैर और हाथों के तलवों में अधिक जलन और गर्मी महसूस हो सकती है। इसीलिए इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से बचें।
  • 2. शिलाजीत का अधिक मात्रा में सेवन करना शरीर में गर्मी और एलर्जी हो सकती है। साथ ही इसे अधिक मात्रा लेने से फोड़े, फुंसी रैशेज और irritation की समस्या हो सकती है।
  • 3. कुछ लोगों में शिलाजीत के सेवन उल्टी होना, बेचैनी महसूस होना या फिर हार्टबीट की समस्या हो सकती है।

हमने अभी तक सिलाजीत के फायदे और नुकसान जाने हैं आइए नीचे की ओर चलते हैं और लोगों द्वारा गूगल में पूछे जाने वाले सवाल के जवाब देते हैं (FAQ)

पुरुष शिलाजीत का सेवन कैसे करें?

पुरुषों के लिए शिलाजीत का सेवन दूध के साथ फायदेमंद होता है। दिन में दो बार चने के आकार  के बराबर शिलाजीत का सेवन सकते हैं।

शिलाजीत कितने दिन खाना चाहिए?

अगर आप अपनी सेहत बनाना चाहते हैं। तो शिलाजीत 60 दिन तक लगातार उपयोग करना चाहिए। इसके अलावा आप ब्लड प्रेशर बढ़ाने के लिए शिलाजीत ले रहे हैं। तो 15 से 20 दिन तक इसका सेवन करें।

शिलाजीत खाने से क्या नुकसान होता है?

वैसे तो शिलाजीत खाने के कई प्रकार के स्वास्थ्य लाभ हैं। लेकिन इसका अधिक मात्रा में सेवन करना स्वास्थ के लिए नुकसानदायक हो सकता है। इसके अधिक सेवन से हाथ पैर के तलवों में गर्मी और जलन मसहूस हो सकती है।

शिलाजीत कैप्सूल खाने का तरीका क्या है?

वैसे शिलाजीत कैप्सूल सेवन करने के कई तरीके हैं। एक कैप्सूल को अपने आहार में दिन में दो बार लें सकते है। इसके बेहतर परिणाम के लिए गर्म पानी के साथ लें।

शिलाजीत कौन सी बीमारी में काम आता है?

वैसे तो शिलाजीत का सेवन कई प्रकार की बीमारियों में फायदेमंद होता है। लेकिन आपको बता दें यह पेशाब से संबंधित बीमारी के लिए और गुर्दे मूत्राशय को स्वस्थ रखने में फ़ायदेमंद है। इसके अलावा शिलाजीत रक्त बनने की प्रक्रिया में मददगार है। साथ ही इसके सेवन से शरीर में एनर्जी भी आती है।

शिलाजीत कितनी देर में असर करता है?

एक अध्ययन के अनुसार जिन लोगों को 90 दिन तक शिलाजीत दिया गया। उनमें स्पर्म काउंट लगभग 62% की वृद्धि देखी गई। साथ ही उनमें स्पर्म मोटिलिटी 12% पाई गई। ऐसे में आप भी स्पर्म काउंट को बढ़ाना चाहते हैं। तो 90 दिनों तक लगातार शिलाजीत का सेवन कर सकते हैं।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version