Makhana 13 benefits How To Identify fox nut buy

1
327

मखाना खाने के फायदे (benefits of eating makhana)

benefits of eating makhana
Makhana khane ke fayde

सूखे मेवे यानि ड्राई फ्रुइट्स में शामिल होने वाले मखाना का सेवन भारत ही नही बल्कि पूरी दुनिया में किया जाता है। बहुत से लोग इसे रोस्ट करके खाना पसंद करते हैं। वहीं, कई लोग ऐसे भी है जो इसे फ्राई करके भी खातें हैं। और कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो इसकी खीर बनाकर खाना पसंद करते हैं। इन तरीकों से खाने से, इसके अलग अलग टेस्ट का मजा ले सकते है।

साथ ही, आपको यह जानकर भी काफी हैरानी होगी कि टेस्ट के साथ ही हमारी सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। इस पोस्ट में हम आपको मखाने के कुछ ऐसे फायेदे के बारे में बताएंगे, जो लगभग 90% लोग नहीं जानते। साथ ही इसे खाने का हेल्दी तरीका भी बताएंगे जिससे आपको ज्याद से ज्यादा फायदा मिल सके। साथ ही मखाने की खेती कैसे होती है यह कैसे तैयार किया जाता है। तो चलिए आगे बढ़ते है और जानते है इसके फायदो के बारें में।

औषधीय गुणो का खजाना है मखाना 

मखाना में कई तरह के औषधीय गुण मौजूद होते हैं, जो हमारे स्वास्थ के लिहज से काफी लाभकारी हो सकते हैं। 

एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इनफार्मेशन) की ऑफिसियल वेबसाइट पर छपी एक रीसर्च के अनुसार, मखाने में एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी ट्यूमर का प्रभाव पाया जाता हैं। इसके अलावा, मखाने का सेवन फीवर, पाचन क्रिया सुधारने में और दस्त जैसी समस्या में भी किया जा सकता है। इसके अलावा मखाना कई खास एल्कलॉइड से भी भरपूर होता है। ये सभी गुण और इसके अच्छे प्रभाव हमारे शरीर को स्वास्थ्य के लिए उपयोगी माने जाते हैं।

Makhana khane ke fayde (मखाना खाने के फायदे)

1. बढ़ते वजन को कम करने के लिए मखाना है फायदेमंद (Makhane is beneficial to reduce the increasing weight)

वजन घटाने में मखाने का उपयोग काफी फायदेमंद साबित हो सकता है, इसलिए इसका सेवन मोटापे की समस्या से छुटकारा दिलाने में फायेदमंद साबित हो सकता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर जारी एक रिसर्च के अनुसार, कमल के बीज (मखाना) का एथेनॉल अर्क शरीर में फैट सेल्स को कंट्रोल करने में मददगार साबित हो सकता है। साथ ही यह फैट सेल्स के वजन को भी कम करने में मदद कर सकता है। 

इसमें पाए जाने वाले गुण वजन कम करने में सहायक साबित हो सकते है। इसीलिए इसका उपयोग वजन कम करने में भी किया जाता है। इससे यह स्पस्ट होता है कि मखाने के सेवन करने से वजन कम करने में मदद मिलती है।

2.हाई ब्लड प्रेशर में फायदेमंद है मखाना (Makhana is beneficial in high blood pressure)

हाई ब्लड प्रेशर जैसी गम्भीर समस्या से छुटकारा डोलने में  मखाना काफी उपयोगी माना जाता है, मखाने के नियमित रूप से इस्तेमाल करने पर इस गंभीर समस्या से काफी हद तक राहत मिल सकती है। इसका कारण इसमें पाया जाने वाला एल्कलॉइड हाइपरटेंशन यानी हाई ब्लड प्रेशर की समस्या को कंट्रोल करने का काम कर सकता है। इसलिए, उच्च रक्तचाप की समस्या को कंट्रोल करने के लिए मखाने का सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है।

अंजीर के फायदे पढ़े Read Now

(Makhana is beneficial in diabet
Makhana

3. डायबिटीज में फायदेमंद है मखाने (Makhana is beneficial in diabetes)

डायबिटीज जैसी समस्या पर नियंत्रण पाने के लिए भी मखाने का सेवन किया जा सकता है। 

एक शोध के अनुसार इस बात का पता चला है की मखाने में पाए जाने वाले रेसिस्टेंट स्टार्च में हाइपोग्लाइसेमिक मधुमेह को कम करने वाला सकारात्मक प्रभाव पाया जाता है, इस सकारात्मक प्रभाव मधुमेह को  तक नियंत्रण किया जा सकता है। इसके अलावा यह इंसुलिन को भी कंट्रोल करने में सहायक है।

4. हृदय के लिए फायदेमंद है मखाना (Makhana is beneficial for the heart)

हमने आपको ऊपर की कुछ लाइनों में बताया कि मखाने का सेवन हाई ब्लड प्रेसर  को कंट्रोल करने का काम कर सकता है। इसके अलावा, मखाने के सेवन से डायबिटीज और बढ़ते वजन को भी नियंत्रित करा जा सकता है। इसलिए हाई ब्लड प्रेसर, डायबिटीज और मोटापे को हृदय रोग का जोखिम का एक कारण माना जाता है। इस आधार पर यह स्पस्ट होता है कि मखाने के सेवन से इन समस्याओं से बचाव होता है  साथ ही इनसे होने वाले हृदय रोग के खतरे को कम कर सकता है। वहीं, एक दूसरी शोध में इस बात की चर्चा की गई है कि कमल का बीज यानी मखाना कार्डियोवस्कुलर रोग हृदय संबंधी से बचाव का कार्य कर सकता है।

5. प्रोटीन का स्रोत है मखाना (Makhana is a source of protein)

मखाने में प्रोटीन की मात्रा भी पाई जाती है। 100 ग्राम मखाने में लगभग 9.7 ग्राम प्रोटीन होता है। इसीलिए मखाने खाने से शरीर में प्रोटीन की कमी भी पूरी होती है। इसे प्रोटीन का स्रोत भी मन जाता है। इसके सेवन से प्रोटीन की कमी से होने वाली समस्या से बचा जा सकता है। 

6. गर्भावस्था में फायेदेमंद है मखाना (Makhana is beneficial in pregnancy)

Makhana- गर्भवती महिलाओं को मखाने का सेवन करना लाभकारी हो सकता है। गर्भवती महिलाओं के लिए कई प्रकार के व्यंजनों में मखाने का इस्तेमाल करा जा सकता है ऐसा करने वे अलग अलग स्वाद का आनंद ले सकते है, स्वाद के साथ इससे हेल्थ को होने वाले लाभ भी उठा सकते है। एक रिसर्च के मुताबित मखाने का सेवन गर्भावस्था के दौरान और बच्चे के जन्म के बाद की होने वाली सारीरिक कमजोरी को खत्म करने के लिए करा जा सकता है। इसके अलावा इसमें कई प्रकार के पोषक तत्व गुण मौजूद होते है जैसे की आयरन, प्रोटीन, मैग्नीशियम ओर पोटेशियम यह सभी तत्व गर्भावस्था में महिलाओं को हेल्दी रखने फायेदेमंद जो सकते है।

7. अनिद्रा में मखाना है फायदेमंद (Makhana is beneficial in insomnia)

अनिद्रा यानी रात में नींद न आने की समस्या में मखाना के अचूक फायेदे देखे जा सकते हैं। 

इसी से सम्बंधित एक रिसर्च में पाया गया कि मखाने का सेवन अनिद्रा की शिकायत दूर करने के लिए किया जा सकता है। लेकिन मखाने का वह कौनसा गुण है, जिससे के कारण अनिद्रा की समस्या दूर होती है इसकी अभी पुस्टि नही हुई है। नही इस पर कोई रिसर्च सामने आई है।

8. मसूड़ों के लिए फायेदेमंद है मखाना (Makhana is beneficial for gums)

Makhana- एक रिसर्च में पाया गया है कि मखाने में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-माइक्रोबियल प्रभाव के गुण भी मौजूद होता हैं। मखाने में पाए जाने वाले ययह दो प्रकार के गुण मसूड़े संबंधित सूजन और बैक्टीरियल समस्या के कारण दांतों में होने वाली सड़न को रोकने में फायेदेमंद साबित हो सकते हैं। इसिलिये माना जाता है कि मखाने में पाए जाने वाले दोनों गुणों से मसूड़ों की सूजन ओर दाँत में सड़न की समस्या में फायदेमंद साबित हो सकते हैं। हालांकि अभी इस विषय पर सीधे तौर पर सोध आना बाकी है जिससे यह पूरी तरह से प्रमाणित हो सके।

Makhana khane ke fayde
Makhana khane ke fayde

9. किडनी के लिए फायदेमंद है मखाना (Makhana is beneficial for kidney)

मखाने का सेवन किडनी यानी गुर्दे के लिए भी फायदेमंद हो सकता है।  

एनसीबीआई के एक शोध की रिपोर्ट में इस बात का जिक्र मिलता है कि मखाने का सेवन अन्य समस्याओं जैसे दस्त के साथ किडनी से सम्बंधित परेशानियों से बचाने में मदद कर सकता है। 

फिलहाल इस पर अभी और रिसर्च होना बाकी है कि इसका कौन सा गुण किडनी की समस्या को ठीक करने में फायेदेमंद जो सकता है। यदि इस पर कोई भी रिसर्च सामने आती है तो हम आपको जानकारी उप्लब्ध करा देंगे। 

10. एंटी-एजिंग में फायदेमंद है मखाना (Makhana is beneficial in anti-aging)

त्वचा की समस्या क्यो उतपन्न होती है इस पर एक रसर्च में पता चला है कि मखाना में ऐंटिऑक्सिडेंट् गुण मौजूद होता है। यह गुण बढ़ती उम्र के साथ त्वचा पर आने वाली समस्या जैसे एजिंग यानी झुर्रियां को दूर करने में फायदेमंद साबित हो सकता है। इसलिए मखाने का सेवन करना हमारी त्वचा के लिए अच्छा माना जाता है 

11. मखाने में कितना कैल्शियम होता है? (How much calcium is in Makhana?)

मखाने में कैलिशयम की प्रचुर मात्रा पाई जाती है। 100 ग्राम मखाने में 18 मिलीग्राम कैलिशयम मौजूद होता है। नीचे के लेख हम आपको बताने जा रहे है 100 ग्राम मखाने के न्यूट्रिशियन फैक्ट्स जिससे आप जान पाएंगे इसमे पाये जाने वाले पोषक तत्व की मात्रा कितनी है।

मखाने का न्यूट्रिशियन फेक्ट (Nutrition Fact of Makhana)

आइए जानते मखाने पाये जाने वाले न्यूट्रिशियन फेक्ट के बारे में जिससे आपको जुड़ गया प्रप्त जो सकें।

मात्रा प्रति 100 ग्राम

कैलोरी 393 kcal

प्रोटीन 9.7 ग्राम

फैट 10.71 ग्राम

कार्बोहाइड्रेट 71.43 ग्राम

फाइबर 3.6 ग्राम

शुगर 3.57 ग्राम

कैल्शियम 18 मिलीग्राम

पोटेशियम 57 मिलीग्राम

सोडियम 750 मिलीग्राम

फैटी एसिड टोटल सैचुरेटेड 1.79 ग्राम

अंत तक पढ़ें

आब हम आपको बताने जा रहे है मखाने के उपयोग का हेल्दी तरीका जिसे जानकर आप लोग इसका लुफ्त ले सकते है।

12. मखाने का प्रयोग कैसे करें– How to Use Makhana in Hindi 

मखाने खाने के फायदे जानने के बाद इसके प्रयोग की बात करना भी जरूरी है। ताकि सही से इसका इस्तेमाल करके आप इसका लाभ उठा सकें। 

मखाना एक ऐसा फ़ूड है जिसे लोग मटर पनीर और अन्य सब्जी में इस्तेमाल करते है जिससे उसका स्वाद बढ़ जाता। आप भी इसे सब्जी के साथ स्वाद अनुसार उपयोग कर सकते है।

वही मखाना बाज़ार में मसाला मखाना फोम में भी उपलब्ध है जैसे मसाला काजू उपलब्ध है, यह ऑनलाइन पर भी उपलब्ध है जैसे Amazon, flipkart की वेबसाइट पर।

मखाने कब और कैसे खाना चाहिए? (When and how should the makhana be eaten?)

Makhana- मखाना स्नैक्स के रूप में खाया जा सकता है, आप इसे फ्राई करके स्नेक्स की तरह खा सकते है।

कई लोग मखाने की खीर बनाकर खाते है, इस नुस्के को आप भी आजमा सकते है, यह स्वाद में काफी अच्छा और पौष्टिक होता है।

13.गर्म दूध के साथ मखाना मिलाकर खाने से शरीर को क्या क्या फायदा पहुचता है, इसे विस्तार से समझते है।

  • गर्म दूध के साथ मखाना मिलाकर सेवन करने से कुछ ही महीनों के भीतर शारीरिक कमजोरी को हमेशा के लिए खत्म किया जा सकता है।
  • रात के समय मखाने को दूध के साथ उबाल कर सेवन करने से तनाव कम होता ही है साथ ही यह अच्छी नींद लाने में भी लाभकारी है।
  • प्रतिदिन सुबह ब्रेकफास्ट के समय दूध के साथ मखाने के 6–7 दाने उबाल कर खाने से शुगर को आसानी से नियंत्रण में लाया जा सकता है।
  • उपर के लेख में मखाने में  पाए जाने वाले न्यूट्रिशियन फैक्ट का जिक्र किया गया है। इसमें पाये जाने वाले आयरन, प्रोटीन, मैग्नीशियम और पोटेशियम जैसे पोषक गर्भावस्था के दौरान महिलाओ को हेल्दी रखने में सहयता करते हैं।
  • दूध के साथ मखाना उबालकर नियमिय रूप से प्रयोग करने पर हाई ब्लड प्रेशर जैसी गंभीर समस्या को कम खाने में काफी मदद मिलती है और ब्लड प्रेशर नियंत्रण में रहता है।
  • रात के समय दूध के साथ मखाना उबाल कर सेवन करने से हार्ट अटैक जैसी गंभीर बीमारियों से बचाव में मदद मिलती है। क्योंकि मखाने का सेवन करना दिल को स्वास्थ्य और दुरुस्त रखने में लाभदायक है।
  • दूध के अलावा मखाना में भी कैल्शियम की अच्छी मात्रा पायी जाती है। इसके सेवन करने से जोड़ों के दर्द और गठिया जैसे रोगों में काफी लाभ पहुंचता है।
  • मखाना एक फ़ूड है जो अपने एंटीऑक्सीडेंट गुणों के लिए पूरी दुनिया में जाना जाता है। इसमे मौजूद गुण त्वचा पर होने वाली झुर्रियों को दूर करने में मदद करते है और एजिंग के प्रभाव को कम करने में लाभकारी सिद्ध होते है।
  • मखाने में मौजूद फाइबर की मात्रा अधिक होने के कारण इसका ज्यादा सेवन करने से आपको एलर्जी का सामना भी करना पड़ सकता है, इसलिए  सीमित मात्रा में ही मखाने का सेवन करें। एलर्जी होने पर डाक्टर की सलाह जरूर लें। 

इस लेख के माध्यम से हमने मखाने के फायदों के बारें में जाना है। लेकिन कुछ लोगों के मन यह सवाल जरूर रहता है कि मखाना कहां से आता है इसकी खेती कैसे होती है। नीचे के लेख में हम मखाना कैसे तैयार जोटा है जानेंगे।

मखाने की खेती कहाँ होती है? (Where is the cultivation of makhana done?)

मखाने की खेती भारत के अलावा चीन, जापान और रूस में की जाती है। भारत में इसकी खेती बिहार में स्थित मिथिलांचल में कई जाती है। देश के कुल उत्पादन का 85% से 90% बिहार के मिथिलांचल से प्राप्त होता है।

मखाने की खेती कैसे होती है? (How is Makhana farming done?)

Makhana- मखाना की खेती जल भराव जमीन पर की जाती है। कुछ लोगों का मानना है कि मखाने कमल के बीज से बनते है पर ऐसा नहीं है, यह कमल के बीज की तरह दिखने वाले कुरूपा अखरोट नामक बीज से तैयार किया जाता है। इस बीज की घांस पानी उगाई जाती है। कुरूप अखरोट के बीज को बिहार में के नाम से जाना जाता है। कुरूपा घांस बिहार के उथले पानी में उगने वाली घांस है, जिसके बीज सफेद अथवा छोटे होते है। मखाने की फसल ऑर्गेनिक तरह से की जाती है इसमें की भी प्रकार का खाद, राशनिको या उर्वरको का इस्तेमाल नही किया जाता। यह फसल आपने लिए स्वयम जैविक विधि से खाद तैयार करती है।

मखाना कैसे तैयार किया जाता है? (How is Makhana prepared?)

Makhana-फसलों से कुरूप बीज को निकलकर सुखाया जाता है। फिर उन बीजो को छलनी में छान कर छोटे और बड़े बीज अलग करा जाता है। इसके बाद बीजों को मक्के के दानों की तरह भुजा जाता है। इस प्रकार से तैयार मखाना बाजार में आपके घरों में पहुँचता है।

अब इसको किस मात्रा में सेवन करना है यह जानना बहुत आवश्यक है। चलिए जानते है इसके सेवन की सही मात्रा क्या है। एक बार मे 15gm से 25gm का प्रयोग किया जा सकता है। लेकिन इससे सम्बंधित किसी भी प्रकार का वैज्ञानिक शोध का प्रमाण मौजूद नही है।

जैसे कि हम अपने सभी आर्टिकल के स्टार्टिंग में या आर्टिकल के अंत मे अच्छा क्वालिटी को कैसे पहचाने पर कुछ टिप्स जरूर दिए  होते है, यहाँ पर भी हम आपको मखाना की अच्छा क्वालिटी को कैसे पहचाने तरीका बताएंगे जिससे आप ठगी का शिकार न बनें।

मखाना खरीदते समय यह सुनिश्चि कर ले कि मखाना ज्यादा पुराना व पिले पन का न हो।

मखाना छोटा या बड़ा साइज़ का हो सकता है अगर मखाने का रंग सफेद हो तो उसकी क्वालिटी अच्छी मानी जाती है।

यदि मखाना साइज़ में काफी छोटा हो तो यह क्वालिटी के लिहाज से सही नही है क्योंकि वह सही से फूलना पाने के कारण हार्ड रहता है।

क्या मखाने गर्म होते हैं? (Are the Makhana ovens hot?

मखाने की तासीर ठंडी होती है। लेकिन इसका सेवन किसी भी मौसम में लाभदायक होता है। सर्दी, गर्मी, बरसात किसी भी मौसम में आप इसका सेवन कर सकते है।

मखाने में कितनी कैलोरी होती है?

100 ग्राम मखाने में 350 कैलोरी की मात्रा 350 ग्राम होती है। यह कैलोरी का एक हेल्दी स्रोत है।

क्या मखाने खाने से वजन बढ़ता है? (How many calories are in Makhana?)

Makhana- में फाइबर भरपूर मात्रा में उपलब्ध होता है। साथ ही इस में कैलोरी की मात्रा भी मौजूद रहती है जैसा कि हमने ऊपर के लेख में बताया है 100 ग्राम मखाने में 350 कैलोरी होती है। और कैलोरी की मात्रा का ज्यादा सेवन करना वजन बढ़ाता है। यह आप पर निर्भर करता है आप वजन बढ़ाना चाहते है या घटाना।

पुरषों की कमजोरी कैसे दूर करें मखाने के सेवन से? (How to remove the weakness of men by consuming makhana?)

पुरषों की कमजोर दूर करने के लिय मखाना एक सुपर फ़ूड है। गर्म दूध के साथ मखाना मिलाकर सेवन करने से पुरुषों में नपुंसकता और लो स्पर्म काउंट की समस्या को समाप्त किया जा सकता है। आइये जानते है इसके क्या क्या फायेदे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here