Adsense
Home ब्लॉग symptoms of thyroid in women Easy Home Remedy | महिलाओं में थायराइड...

symptoms of thyroid in women Easy Home Remedy | महिलाओं में थायराइड के लक्षण 8 घरेलू उपाए

0

(महिलाओं में थायराइड के लक्षण 8 आसान घरेलू उपाए) symptoms of thyroid in women

symptoms of thyroid in women– पुरुषों की तुलना में महिलाओं में थायराइड रोग विकसित होने की संभावना अधिक होती है महिलाओं में तनाव शरीर में आयोडीन की कमी और हार्मोन असंतुलन के कारण कई बीमारियां पैदा हो जाती हैं उन बीमारियों में से एक थायराइड भी है थायराइड रोग महिलाओं को कई प्रकार से प्रभावित करता है।

वास्तव में, महिलाओं में हाशिमोटो की बीमारी, ग्रेव्स रोग, या किसी अन्य प्रकार की थायरॉयड समस्या जैसी ऑटोइम्यून स्थिति विकसित होने की संभावना आठ गुना अधिक होती है। यह स्पष्ट नहीं है कि महिलाओं को अधिक जोखिम क्यों है, लेकिन कुछ शोधकर्ताओं ने सुझाव दिया है कि हार्मोन एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन इन बीमारियों को ट्रिगर या तेज करने में भूमिका निभा सकते हैं।

आज हम आपको आसान शब्दों में बताएंगे महिलाओं में थायराइड के शुरुआती लक्षण क्या है। थायराइड कितने प्रकार की होती है और थायराइड का उपचार कैसे करें। इसके अलावा थायराइड से जुड़ी अन्य सभी जानकारियां हम इस लेख में आपको बताने जा रहे हैं। सभी महत्वपूर्ण जानकारियां ध्यान से अंत तक पढ़े।

symptoms of thyroid in women

यह भी पढ़े लिवर का रामबाण इलाज

महिलाओं में थायराइड के लक्षण (symptoms of thyroid in women in Hindi)

1. थायराइड क्या होता है? (what is thyroid in Hindi)

थायराइड एक ग्रंथि है जो गले के अगले हिस्से में मौजूद होती है। इसका आकार सामान्य तितली की तरह होता है। यह ग्रंथि शरीर में कई प्रकार के गतिविधियों को नियंत्रण करने में सहायता प्रदान करती है। उदाहरण के लिए भोजन को ऊर्जा में बदलना आदि।

2. थायराइड के प्रकार? (Types of Thyroid)

थायराइड रोग के दो प्रकार होते हैं निम्नलिखित है हाइपोथाइरॉएडिज्म (Hypothyroidism)

हाइपरटाइरॉएडिज्म

3. थायराइड का शुरुआती लक्षण क्या है? (What are the early symptoms of thyroid)

थायराइड की बीमारी को हल्के में नहीं लेना चाहिए क्योंकि यह कुछ गंभीर परिणाम भी दे सकती हैं आइए जानते हैं, थायराइड का कैसे पता चलता है? इसके क्या शुरुआती लक्षण होते हैं। थायराइड में क्या क्या बीमारी होती है। पढ़ना जारी रखें

1 गर्दन में सूजन की समस्या (Swelling problem in neck in Hindi)

थायराइड के शुरुआती लक्षणों में से एक लक्षण यह भी है गर्दन में सूजन या भारीपन। यदि गर्दन में सूजन या भारीपन हो तो डॉक्टर को जरूर दिखाएं।

2 त्वचा और बाल की समस्या (skin and hair problems in Hindi)

थायराइड की शुरुआती स्थिति में त्वचा में रूखापन, बालों का झड़ना तथा आइब्रो के बाल भी झड़ने की समस्या देखी जाती है। इसके अलावा हाइपरथायराइड में बाल तेजी से झड़ते है तथा त्वचा से संबंधित समस्या देखी जाती है

3 हारमोंस बदलने की समस्या (problem with changing hormones in Hindi)

थायराइड में पीरियड के दौरान महिलाओं में पेट में दर्द अधिक रहता है। थायराइड की स्थिति में महिलाओं को गर्भधारण करने में भी होती है।

4 मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द की समस्या (Muscle and joint pain problems in Hindi)

हाइपोथायराइड के शुरुआती दिनों में टीएसएच अधिक होता है तथा टी3 टी4 कम होने पर मांसपेशियों तथा जोड़ों में दर्द रहता है।

5 थकान और घबराहट की समस्या (fatigue and anxiety in Hindi)

यदि आप किसी भी काम को करते हुए बहुत ही कम समय में थक जाते हैं। मैं छोटी सी बात सुनकर भी घबरा महसूस करते हैं। तो यह थायराइड का लक्षण हो सकता है।

6 पेट खराब होने की समस्या (stomach upset in Hindi)

हाइपोथायराइड में लंबे समय से कब्ज की समस्या रहती है। वही हाइपरथायराइड में डायरा की समस्या रहती है।

7 वजन बढ़ने की समस्या (weight gain problem in Hindi)

हाइपोथायराइड होने पर अक्सर वजन तेजी से बढ़ने लगता है। इसके अलावा शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर भी तेजी से बढ़ता है। वही हाइपरथायराइड में कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम हो सकता है।

4. थायराइड का उपचार महिलाओं में (thyroid treatment in women in Hindi)

थायराइड को ठीक करने के लिए कुछ घरेलू उपाय भी कारगर होते हैं। आइए उनको भी देख लेते हैं, पढ़ना जारी रखें

1 मुलेठी द्वारा थायराइड का इलाज (Thyroid treatment by liquorice in Hindi)

थायराइड में मुलेठी का प्रयोग फायदेमंद होता है। क्योंकि मुलेठी में ट्रीटरपेनोइड ग्लाइसेरीथेनिक एसिड पाया जाता है। जो थायराइड (thyroid Cancer Cells) कैंसर सेल्स को विकसित होने से रोकता है।

2 अश्वगंधा पाउडर द्वारा थायराइड का इलाज (Thyroid Treatment With Ashwagandha Powder in Hindi)

थायराइड का इलाज के लिए अश्वगंधा पाउडर की फायदेमंद होता है। रात में सोने से पहले एक चम्मच अश्वगंधा पाउडर को गुनगुने दूध के साथ लेना फायदेमंद होता है। इसके अलावा आप इसकी पत्तियां और जड़ को पानी मे  उबाल कार पी सकते हैं। यह शरीर में हार्मोन को संतुलित करने में मदद करता है।

3 हरी धनिया की पत्ती से थायराइड का इलाज (Thyroid treatment with coriander leaves in hindi)

हरी धनिया की पत्तियां भी थायराइड में बहुत उपयोगी होती है। इसके लिए आप एक गिलास पानी में हरी धनिया की पत्ती पीसकर पी सकती हैं। यह उपाय थायराइड को ठीक करने में कारगर माना जाता है।

4 तुलसी के पत्तों द्वारा थायराइड का इलाज (Thyroid treatment with basil leaves in Hindi)

थायराइड में तुलसी का रस फायदेमंद हो सकता है। यदि आप एक चम्मच एलोवेरा जूस के साथ आधा चम्मच तुलसी के रस का सेवन करती हैं। यह थायराइड को दूर करने में मदद कर सकता है।

5 हल्दी और दूध से थायराइड का इलाज (Thyroid treatment with turmeric and milk in Hindi)

प्रतिदिन हल्दी वाला दूध पीने से कई रोग ठीक होते हैं। इसके अलावा यह थायराइड रोग को ठीक करने में फायदेमंद होता है।

6 त्रिफला पाउडर से थायराइड का इलाज (Thyroid treatment with Triphala powder in Hindi)

त्रिफला चूर्ण का सेवन भी थायराइड के रूप में फायदेमंद होता है। इसके लिए आप प्रतिदिन एक चम्मच त्रिफला चूर्ण का सेवन कर सकते हैं।

7 काली मिर्च से थायराइड का इलाज (Thyroid treatment with black pepper in hindi)

भोजन में काली मिर्च पाउडर का सेवन करना भी थायराइड की समस्या में राहत देता है। इसलिए थायराइड ठीक करने के लिए नियमित रूप से इसका सेवन कर सकती हैं।

8 लौकी से थायराइड का इलाज (Thyroid treatment with gourd in Hindi)

लौकी का जूस थायराइड की समस्या में आराम दिलाने में सहायक माना जाता है। ऐसे में सुबह खाली पेट लौकी का जूस पी सकते हैं।

ऊपर बताए गए तभी उपाय आसान और थायराइड की समस्या में उपयोगी हैं। आइए नीचे की ओर चलते हैं और गूगल में अक्सर लोगों द्वारा पूछे जाने वाले सवालों को देखते (FAQ) हैं।

महिलाओं में थायराइड बढ़ने से क्या होता है?

महिलाओं को थायराइड होने पर उनके शरीर में कई प्रकार के बदलाव होते हैं। इसमें पीरियड अनियमित हो जाता है अनिद्रा की समस्या रहती है। वजन बढ़ना और घटना की समस्या रहती है। थायराइड में स्ट्रेस बनने की भी समस्या रहती है। यह सभी लक्षण थायराइड होने के संकेत हैं।

महिलाओं में थायराइड कैंसर के लक्षण

थायराइड कैंसर होने पर इसके कई लक्षण देखे जाते हैं। इसमें गर्दन पर गांठ का महसूस होना प्रमुख लक्षण होता है। साथ ही आप की आवाज में भी बदलाव होता है। कुछ निकलने में भी परेशानी होती है। गर्दन और गले में दर्द का महसूस होना भी थायराइड कैंसर का लक्षण हो सकता है। खांसी की समस्या भी thyroid कैंसर का लक्षण हो सकता है।

प्रेग्नेंसी में थायराइड के लक्षण

इसमें आपको बहुत ज्यादा थकान महसूस हो सकती है। साथी इसमे वजन बढ़ने और कब्ज की समस्या भी होती है। इसमें ध्यान ना लगना और ज्यादा से जुड़ी परेशानियां भी देखी जाती है। इसके अलावा ठंड का अधिक लगना और मांसपेशियों में ऐंठन भी होती है।

महिलाओं में हाइपोथाइरॉएडिज्म के लक्षण

महिलाओं में हाइपोथाइरॉएडिज्म के लक्षण निम्नलिखित होते हैं। इसमें थकान, मांसपेशियों में कमजोरी आना, वजन बढ़ना, अधिक ठंड लगना, रूखे भंगुर बाल, याददाश्त कमजोरी होना, चिड़चिड़ापन और डिप्रेशन की समस्या होना आदि शामिल है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version