शहतूत के फायदे बीमारियों में हिंदी more then 15 benefits of mulberry diseases in Hindi

0
249

शहतूत के फायदे पूरी जानकरी आसान सब्दो में

शहतूत के फायदे

शहतूत (Mulberry) के फल में समाए हैं औषधीय गुण यह जितना खाने में मीठा व स्वादिष्ट है। इसके फायदे उतने ही लाजवाब तथा स्वास्थ्यवर्धक हैं। लगभग सभी लोगों ने इस फल को खाया होगा। लेकिन आप नहीं जानते यह हमारे स्वास्थ्य मैं किस प्रकार से फायदा पहुंचाता है।

मैं इस लेख के माध्यम से आपको आसान भाषा में शहतूत के फायदे और (Mulberry benefits and uses the right way) उपयोग करने का सही तरीका बताऊंगा जिससे आप इसका भरपूर स्वास्थ्य लाभ लें सकें। शहतूत को जड़ी बूटी औषधि भी कहा जाता है। क्योंकि कि यह कई प्रकार की बीमारियों को दूर करने में लाभदायक है। आइए जानते हैं शहतूत की पूरी जानकारी।

बीमारियों को खत्म करने के लिए, आयुर्वेद में शहतूत की अच्छी बातों का उल्लेख किया गया है। पाचन क्रिया, पेशाब की समस्या, गुर्दे की कमजोरी, शारीरिक कमजोरी, शुक्राणु की कमी, थकान की समस्या, खून की कमी, बालों की समस्या, त्वचा की समस्या, हृदय रोगों, गला रोगों और भी कई बीमारियों में इसका सेवन फायदेमंद होता है।

1.शहतूत क्या है? (What is Mulberry in Hindi?)

शहतूत एक औषधि गुणों वाला फल है। इसका फल जनवरी से मार्च-अप्रैल में पक कर तैयार होने वाला सीजनल फल है। इस का पेड़ मीडियम साइज यानी 3 से 7 मीटर लंबा होता है। इसके पेड़ का तना गहरे भूरे रंग तथा खुरदुरा होता है। इसके पत्ते अंडाकार और किनारों पर थोड़े दंतोर होते हैं। इसके पत्ते काफी बड़े और पतले होते हैं।

जिस पर पीछे की तरफ से सिराय उभरी हुई दिखती हैं। शुरुआती दिनों में शहतूत के सफेद फूल बहुत ही बारिक बारिक हरे रंग की मंजरी में होते हैं। यही मंजरी बाद में धीरे धीरे हरे, लाल और बैंगनी रंग में पक्ककर रसीले फल बन जाते हैं। इसका फल गोल आंडाकार होता है। इसके फल 2.5 सेमी लम्बे होते हैं।

शहतूत वृक्ष के उपयोगी भाग

इसके इस्तेमाल में किये जाने वाले भाग है।

  • शहतूत फल
  • पत्तियां
  • छाल
  • बीज

शहतूत में पाए जाने वाले औषधीय गुण

Nutrition Values Found In Mulberry In Hindi

2. शहतूत मैं पाए जाने वाले न्यूट्रिशन वैल्यू (Nutrition Values found in Mulberry in Hindi)

100 ग्राम की न्यूट्रिशन वैल्यूNutrition value of 100 grams
सैचुरेटेड फैट 0.027 ग्रामSaturated Fat 0.027 g
टोटल पेट 0.39 ग्रामTotal belly 0.39 grams
पॉलिसैचेराइड फाइट 0.207 ग्रामpolysaccharide phyt 0.207 g
मोनोसैचुरेटेड फैट जीरो 0.041 ग्रामMonounsaturated Fat Zero 0.041 g
कॉलेस्ट्रोल 0 एमजीCholesterol 0 mg
सोडियम 10 एमजीsodium 10 mg
टोटल कार्बोहाइड्रेट 9.8 ग्रामTotal Carbohydrate 9.8 g
डाइटरी फाइबर 1.7 ग्रामDietary Fiber 1.7 grams
शुगर 8.1 ग्रामSugar 8.1 g
प्रोटीन 1.44 ग्रामProtein 1.44 grams
विटामिन डीvitamin D
कैल्शियम 39 एमजीCalcium 39 mg
आयरन 1.85 एनजीIron 1.85 ng
पोटैशियम 194 एमजीPotassium 194 mg
विटामिन 1 एमजीVitamin 1 mg
विटामिन सी 36.4 एमजीVitamin C 36.4 mg

3. शहतूत के अन्य भाषाओं में नाम (Names of mulberry in other languages in Hiondi)

हिंदी भाषा मैं शहतूत, तूतरी, चुन्नीMulberry in Hindi  sehtoot, Tutri, Chunni
इंग्लिश भाषा में मलबेरी सफेद मलबेरीmulberry in english, white mulberry
संस्कृत भाषा में ब्रह्मकांष्ठ, मृदुसार, तूत, तूल, सुपुष्प तूद, ब्रह्मादारुBrahmakantha, Mridusara, Tut, Tul, Supushpa Tud, Brahmadaru in Sanskrit
उत्तराखंड भाषा में तूंतरीTuntri in Uttarakhand
ओरिया भाषा में तूतीकोलीTuticoli in Oriya
कन्नड़ भाषा में तूती कोरिगिड़ाTuti Korigida in Kannada
गुजराती भाषा में शेतुरChetur in Gujarati
तमिल भाषा में काम्बीलीपुचkambilipuch in tamil
बंगाली भाषा में तूतtut in bengali
नेपाली में किम्बूkimbu in Nepali
तेलुगु भाषा में रेशमीचेट्टूreshmi chettu in telugu
पंजाबी भाषा में तूतtut in punjabi
पेरिशियन भाषा में टूथ, तूतparisian tooth
अरबी भाषा में दूध टूथ, तूतMilk Tooth, Tut in Arabic
मराठी भाषा में तूतtut in marathi
शहतूत के फायदे और उपयोग सौंदर्य के लिए (Mulberry Benefits And Uses For Beauty In Hindi)

4. शहतूत के फायदे और उपयोग सौंदर्य के लिए (Mulberry benefits and uses for beauty in Hindi)

 गर्मियों में त्वचा के लिए शहतूत के फायदे (Benefits of Mulberry for the skin in summer in Hindi)

गर्मियों के मौसम में त्वचा पर लू लगने की समस्या बढ़ जाती है। इसके अलावा त्वचा सूर्य की किरणों से भी प्रभावित होती है। हर्बल एक्सपर्ट द्वारा इस समस्या को कम करने के लिए शहतूत के रस में मिश्री डालकर पीने से लाभ मिलता है। यह लू से बचाता है, तथा चेहरे पर सूर्य की किरणों का प्रभाव कम करता है। जिससे हमारी त्वचा सुंदर बनी रहती है।

मुहांसों की समस्या के लिए शहतूत के फायदे (benefits of mulberry for acne problem in Hindi)

मुंहासों से छुटकारा पाने के लिए शहतूत के पेड़ की छाल के साथ नीम के पेड़ की छाल को बराबर मात्रा में पीसकर लेप लगाने से, मुहांसों की समस्या दूर होती है। जिसे त्वचा सुंदर लगती है। 

दमकती त्वचा  के लिए शहतूत के फायदे (benefits of Mulberry for glowing skin in Hindi)

शहतूत, अंगूर और गुलाब की पंखुड़ियों का शरबत बनाकर पीने से रक्त साफ होता है। जिससे त्वचा में ग्लो आता है। त्वचा चमकदार बनती है। इस शरबत में स्वाद अनुसार चीनी का प्रयोग भी किया जा सकता है।

5. शहतूत के फायदे और उपयोग स्वस्थ्य के लिए (Mulberry benefits and uses for health in Hindi)

शरीर से प्रदूषण निकालने में शहतूत के फायदे 

इसमें मौजूद रेसवेरेट्रॉल शरीर के अंदर से प्रदूषण को बाहर निकालने में मदद करता है  जिससे रोगों का खतरा कम रहता है।

शहतूत के फायदे और उपयोग सौंदर्य के लिए (Mulberry Benefits And Uses For Beauty In Hindi)

पाचन क्रिया में शहतूत के फायदे (benefits of mulberry in digestion in Hindi)

शहतूत में डाइटरी फाइबर पाए जाते हैं। जो पाचन क्रिया के लिए रामबाण का काम करते हैं। शहतूत के रस में एक चुटकी पिपली का चूर्ण डालकर सेवन करने से पाचन से संबंधित समस्या मैं लाभ मिलता है।

कोलेस्ट्रॉल में शहतूत के फायदे (benefits of mulberry in cholesterol in Hindi)

शहतूत मैं पाए जाने वाले डाइटरी फाइबर से, कोलेस्ट्रॉल लेवल कम करने में मदद मिलती है। इसमें मौजूद फाइबर पानी को अब्जॉर्ब कर लेता है। जो अचानक से कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ने की समस्या कम करता है। इसलिए सीजन में प्रतिदिन एक कप इस का शरबत पीना चाहिए।

कब्ज की समस्या दूर करने में शहतूत के फायदे (Benefits of mulberry in removing the problem of constipation in Hindi)

शहतूत में मौजूद इनफॉर्मेटरी गुण कब्ज की समस्या को दूर करने के लिए फायदेमंद होते हैं। इसके लिए 5 से 10 मिलीग्राम शहतूत के रस का सेवन करने से बहुत जल्दी फायदा मिलता है।

ब्लड प्रेशर के लिए शहतूत के फायदे (benefits of mulberry for blood pressure in Hindi)

शहतूत में रेसवेरेट्रॉल (Resveratrol) नाम का तत्व पाया जाता है। जो ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में काफी हद तक कारगर माना जाता है। इसके लिए डेली शहतूत की कुछ मात्रा का सेवन करना चाहिए।

डायबिटीज में शहतूत के फायदे (benefits of mulberry in diabetes in Hindi)

शहतूत में ऐसा कंपाउंड पाया जाता है। जो डायबिटीज के बढ़ने के खतरे में कमीकर नियंत्रित में रखता है।

शारीरक कमजोरी दूर करने के लिए शहतूत के फायदे (Benefits of mulberry to remove physical weakness in Hindi)

शहतूत का उपयोग शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए भी किया जाता है। इसके लिए शहतूत को सुखाकर इसका पाउडर बना लें। अब इस पाउडर को आटे में मिलाकर रोटी बनाकर सेवन करें। ऐसा करने से कुछ ही दिनों में शरीर की कमजोरी दूर होती है, शरीर हष्ट पुष्ट बनता है।

पेट के कीड़ों के लिए शहतूत के फायदे (Benefits of mulberry for stomach worms in Hindi)

अगर किसी कारण आपके पेट में कीड़े हो गए हैं शहतूत की छाल 5 से 10 ग्राम की मात्रा में ले इसे उबालकर काढ़ा बनाकर खाली पेट पीने से पेट के कीड़े नष्ट हो जाते हैं।

रक्त और पित्त के विकार में शहतूत के फायदे (Benefits of mulberry in blood and bile disorders in Hindi)

दोपहर के समय शहतूत का सेवन मिश्री के साथ करने से पित्त और रक्त विकार दूर होता है। थोड़ी मात्रा में शहतूत और कुछ मिश्री के दाने का सेवन किया जा सकता है।

दाद खाज खुजली मैं से शहतूत के फायदे (Benefits of Mulberry from herpes scabies itching in Hindi)

शहतूत के पत्ते को पीसकर हल्दी और तेल में मिलाकर गर्म कर लें। ठंडा होने पर प्रभावित जगह पर लगाएं इस प्रयोग से बड़ा ही अच्छा लाभ होता है।

मूत्र विकार के लिए शहतूत के फायदे (benefits of mulberry for urinary disorder in Hindi)

जिन लोगों के मूत्र का रंग बदल गया है यानी पीला या झागदार हो गया है। ऐसे लोगों को पके हुए शहतूत का एक कप शरबत मिश्री के साथ सेवन करना चाहिए। इस उपाय से अच्छा लाभ होता है।

मुंह के छालों में शहतूत के फायदे (benefits of mulberry in mouth ulcers in Hindi)

मुंह का छाला होना भी एक बड़ी समस्या है। जिससे व्यक्ति को खान पीन में बहुत तकलीफ होती है। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए एक गिलास पानी में एक चुम्मच शहतूत का रस डालकर गुनगुना कर, कुल्ला करने से छाले समाप्त होते हैं। 

इसके अलावा इसके पत्तियों में भी ऐसे गुण पाए जाते हैं। जो छालों की समस्या को दूर करने में सहायक होती है। इसके लिए चार से पांच पत्ते उबालकर कुल्ला कर सकते हैं।

अधिक प्यास की समस्या में शहतूत के फायदे (Benefits of mulberry in the problem of excessive thirst inhindi0

गर्मी के मौसम में अत्यधिक प्यास लगने की समस्या हो जाती है। इससे निजात पाने के लिए। पके हुए शहतूत का शरबत बनाकर पीना चाहिए। इसके साथ-साथ यह उपाय गर्मी के कारण होने वाले बुखार के लिए भी लाभदायक है।

कंफ और बलगम मैं शहतूत के फायदे (Benefits of mulberry in phlegm and mucus in Hindi)

5 से 10 मिलीग्राम इसकीव छाल का काढ़ा बनाकर पीने से कफ और बलगम की समस्या दूर होती है।

कंठमाला और कंठ में शहतूत के फायदे (Benefits of Mulberry in Mumps and Throat in hindi)

इसकी छाल का पेस्ट बनाकर कंठमाला और कंठ पर लेप लगाने से सूजन दूर होती है। इसके अलावा शहतूत के फलों का जूस बनाकर पीने से भी लाभ मिलता है। 

गला बैठने में शहतूत के फायदे 

शहतूत का शरबत बनाकर पीने से गला बैठने की समस्या दूर होती है, साथ ही आवाज भी मधुर बनती है। 

त्वचा रोग के लिए शहतूत के फायदे (benefits of mulberry for skin diseases in Hindi)

त्वचा रोग से संबंधित समस्या मैं गुणकारी साबित हो सकता है। शहतूत का पत्तो का लेप करने से त्वचा की बीमारियों में लाभ मिलता है।

सूजन के लिए शहतूत के फायदे (benefits of mulberry for bloating in Hindi)

शरीर के किसी भी हिस्से पर सूजन मैं शहतूत के रस में शहद मिलाकर लगाने से सूजन की समस्या में लाभ होती है।

6. शहतूत का पौधा कहां उगाया जाता है? (Where is the mulberry plant growing HIndi?)

  • शहतूत सबसे पहले चीन में उगाया गया था। इसके बाद इसकी खेती अफगानिस्तान, बलूचिस्तान, श्रीलंका, वेतनाम, जापान, पाकिस्तान तथा सिंधु के उत्तरी भागों में इसकी कृषि होती है।
  • भारत में शहतूत उगाने वाली जगह के नाम उत्तर प्रदेश, बिहार, कश्मीर, पंजाब, झारखंड, मध्य प्रदेश, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश एवं उत्तरी पश्चिमी हिमालय आदि।

7. शहतूत के प्रकार (types of mulberry in Hindi?)

  • शहतूत के दो प्रकार है?
  • शहतूत का पहला प्रकार लाल एवं जामनी रंग के शहतूत को मुख्य रूप से खाने के लिए उगाया जाता है।
  • शहतूत का दूसरा प्रकार यानी सफेद रंग के शहतूत की खेती रेशम के कीड़े को खिलाने के लिए की जाती है।

दोस्तों इस लेख के माध्यम से मैंने आसान शब्दों में शहतूत के फायदे और इसकी कुछ अन्य जानकारियां आपके साथ साझा की हैं। आशा करता हूं मेरे द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आएगी। आप भी शहतूत का भरपूर लाभ ले सकेंगे। इस लेख को पढ़ने के लिए आपका तहे दिल से धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here