10 से ज्यादा नीम के फायदे लेने के लिए ऐसे करें इस्तेमाल

0
447

नीम के फायदे उपयोग और नुकसान

नीम के फायदे

नीम का पेड़ यानी औषधीय गुणों का खजाना। इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो बीमारियों को दूर करने में उपयोग किये जाते हैं। भारत में कई प्रकार के औषधीय गुण वाले पेड़ पौधे जड़ी बूटी आदि पाई जाते है। जिसके लिए हमारा देश पूरे विश्व भर में जाना जाता है। आज इस लेख में हम ऐसे ही औषधि गुणों वाले नीम के पेड़ की बात करेंगे। नीम की पत्तियां, जड़, फल, तेल और छाल लगभग सभी भाग उपयोगी माने जाते हैं। आज हम आपको आसान भाषा में बताएंगे। इसके कौन से भाग किस बीमारी में इस्तेमाल किये जाते है। जिससे आप इसका भरपूर लाभ ले सकें, इसका कब और कितना इस्तेमाल करना हैं। नीचे की ओर जानेंगे

benefits of neem for skin in hindi

1.स्किन के लिए नीम के फायदे (benefits of neem for skin in hindi)

स्किन में ग्लो लाने में नीम के फायदे (Benefits of neem in bringing glow to the skinin Hindi)

सुबह खाली पेट दो नीम की पत्ती और एक चुटकी हल्दी शहद वाले पानी के साथ लेने से स्किन पर ग्लो आता है। यह प्रयोग रक्त को शुद्ध करने में मदद करता है। जिससे त्वचा सुंदर व ग्लोइंग बनती है।

मुहांसों में नीम के फायदे और इस्तेमाल (Benefits and uses of neem in acne in Hindi)

नीम के पत्ते और पुदीने के पत्ते बराबर मात्रा में लेकर पीसकर पेस्ट बना लें। अब इस टेस्ट में एलोवेरा जेल मिलाकर लगाने से पिंपल्स को दूर करने में मदद मिलती है। साथ ही इस उपाय से चेहरे के दाग धब्बे भी गायब होते हैं।

झाइयों के लिए नीम के फायदे और इस्तेमाल (Benefits and uses of neem for freckles in Hindi)

नीम की कुछ पत्तियों को पीसकर पेस्ट बना लें अब इसमें एलोवेरा जेल मिलाकर झाइयों तथा चेहरे पर लगाने से झाइयों का रंग हल्का पड़ता है। धीरे धीरे झाइयां खत्म होने लगती हैं। इसके अलावा यह उपाय झुर्रियों की समस्या में भी कारगर माना जाता है।

दाद खाज खुजली में नीम के फायदे और इस्तेमाल (Benefits and uses of neem in herpes scabies itching in Hindi)

नीम की पत्ती में एंटी बैक्टीरियल, एंटी फंगल और एंटी वायरल गुण मौजूद होते हैं। जो दाद खाज खुजली तथा त्वचा संबंधी समस्या को दूर करने में मदद करते हैं। 8 से 10 नीम की पत्तियों को पीसकर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को प्रभावित स्थान पर लगाने से लाभ मिलता है।

झुर्रियों के लिएनीम के फायदे (benefits of neem for wrinkles in Hindi)

नीम में एस्ट्रोजन प्रॉपर्टीज पाई जाती है। जो त्वचा की झुर्रियों को कम करने में मदद करती है। इस समस्या को दूर करने के लिए इसके पेस्ट का प्रयोग किया जा सकता है।

ब्लैक हेड्स नीम के फायदे और इस्तेमाल (blackheads neem benefits and uses in Hindi)

नीम की पत्तियों में एंटीसेप्टिक तथा एंटीबैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं। जो स्किन को क्लीन करने का काम करते हैं। इसका पेस्ट प्रतिदिन लगाने से ब्लैक एड्स की समस्या दूर होती है।

Benefits and uses of neem for hair in Hindi

2. बालों के लिए नीम के फायदे और इस्तेमाल (Benefits and uses of neem for hair in Hindi)

बालों के लिए नीम के फायदे और इस्तेमाल (Benefits and uses of neem for hair in Hindi)

बाल झड़ने तथा डैंड्रफ की समस्या को दूर करने के लिए, बालों में नीम के तेल की मालिश रात में सोने से पहले करें। सुबह किसी हर्बल शैंपू से बाल धोलें। इस उपाय से बाल झड़ने तथा डैंड्रफ की समस्या खत्म खत्म होती है।

नीम के पानी का इस्तेमाल (use of neem water in Hinsi)

10 से 15 नीम की पत्ती को पानी में अच्छे से उबाल लें। पानी ठंडा होने के बाद बाल धोने के लिए इस्तेमाल करें। इस प्रयोग से बाल झड़ने तथा डैंड्रफ की समस्या दूर होती है।

ड्राई बालों के लिए नीम का इस्तेमाल (Neem use for dry hair in Hindi)

नीम के पत्तों का पेस्ट बनाकर शाहिद और पानी मिलाकर लगाने से, ड्राई बालों की समस्या तथा डैंड्रफ की समस्या दूर होती है।

नीम के साथ करी पत्ते का इस्तेमाल (Use of curry leaves with neem in Hindi)

15 नीम के पत्ते तथा 15 कड़ी पत्ते और 10 ग्राम अदरक का पेस्ट, चार गिलास पानी में आधा रह जाने तक उबालें। अब इस पानी को छानकर, स्प्रे या कॉटन की मदद से बालों की जड़ों तक लगाएं। यह प्रयोग बेजान बालों में जान डालने के साथ-साथ बाल झड़ने की समस्या को दूर करता है। इसके अलावा बालों में चमक लाने का काम करता है।

benefits of neem for diseases in Hindi

3. बीमारियों के लिए नीम के फायदे (benefits of neem for diseases in Hindi)

सिर दर्द में नीम के फायदे (benefits of neem in headache in Hindi)

नीम के पत्ते का पेस्ट बनाकर माथे पर लेप लगाने से सर दर्द मैं आराम मिलता है।

बुखार में नीम के फायदे और इस्तेमाल (Benefits and uses of neem fever in Hindi) 

10 से 15 नीम के पत्ते एक गिलास पानी में आधा रह जाने तक उबालें। फिर इस पानी को छानकर दिन में तीन बार दो-दो चम्मच लेने से बुखार का तापमान कम होता है।

वजन घटाने में नीम के फायदे और इस्तेमाल (Benefits and uses of neem in weight loss in Hindi)

वजन घटाने के लिए इसकी पत्तियों का जूस सप्ताह में 3 या 4 बार पीने से मेटाबॉलिज्म बेहतर होता है। जिससे वजन घटाने में मदद मिलती है।

दांतो के लिए नीम के फायदे और इस्तेमाल (Benefits and uses of neem for teeth in Hindi)

नीम की पत्तियों को दांतों और मसूड़ों पर रगड़ने से दातों के बैक्टीरिया मर जाते हैं। इसके अलावा यह उपाय मुंह की बदबू तथा मुँह के रोग खत्म करने में मदद करता है। 

नीम की दातुन  का इस्तेमाल (use of neem teeth in Hindi0

नीम की दातून में एंटीमाइक्रोबॉयल एक्टिविटी होती है। इसके अलावा इसमे एंटीसेप्टिक, एंटीवायरल, एंटी पारीक और एंटी अल्सर प्रॉपर्टी होती है। इसकी लकड़ी से ब्रश करने से  दांत से संबंधित समस्या दूर होती है।

घाव ठीक करने में नीम के फायदे और इस्तेमाल (Benefits and uses of neem in wound healing in Hindi)

नीम की छाल में एंटीसेप्टिक गुण मौजूद होते हैं। इसे पीसकर घाव पर लगाने से घाव भरता है।

इम्यूनिटी के लिए नीम के फायदे (benefits of neem for immunity in Hindi)

कमजोर इम्यूनिटी वालों के लिए नीम का इस्तेमाल फायदेमंद हो सकता है। आज 16 नवंबर 2021 और करोना अभी तक गया नहीं है। यह कमजोर यूनिटी वालों को अपना शिकार बना रहा है, इससे बचने के लिए। नीम पाउडर को हल्दी में मिलाकर गर्म पानी के साथ सुबह-शाम पीने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।

सुबह खाली पेट नीम पत्ती खाने के फायदे (Benefits of eating neem leaves on an empty stomach in the morning in Hindi)

कब्ज में नीम की पत्ती के फायदे (benefits of neem leaves in constipation in HIndi)

सप्ताह में एक से दो बार दो ताजी नीम की पत्तियां खाली पेट खाने से कब्ज की समस्या दूर होती है।

डायबिटीज मैं खाली पेट नीम की पत्ती का उपयोग (use of neem leaves empty stomach in diabetes in Hindi)

4 से 5 पत्तियां प्रतिदिन सुबह खाली पेट चबाकर खाने से, डायबिटीज रोग से बचाव होता है। जो लोग अधिक मीठे का सेवन करते हैं, उनके लिए यह उपाय रामबाण है।

एलर्जी में नीम के फायदे और इस्तेमाल (Benefits and uses of neem in allergies in Hindi)

एलर्जी में नीम के पत्ते पीसकर चने के आकार की गोली बना लें। सुबह खाली पेट शहद के साथ गोलियों का सेवन करने से लाभ मिलता है।

4. अधिक नीम के सेवन से होने वाले नुकसान। (Disadvantages of consuming too much neem in Hindi)

एलर्जी का खतरा (risk of allergies in Hindi)

नीम वैसे तो स्किन से संबंधित समस्या को दूर करती है। एक्सपर्ट के अनुसार, इसका अधिक मात्रा में सेवन एलर्जी की समस्या उत्पन्न कर सकता है।

किडनी के लिए नुकसानदायक (harmful to kidney in Hindi)

जानकार का कहना है नीम की हेवी डोज लेनाकिडनी की समस्या को बढ़ा सकता है। इसलिए इसका सीमित मात्रा में ही सेवन करें।

ब्लड प्रेशर का संतुलन (blood pressure balance in Hindi)

नीम  की हैवी विडोज ब्लड प्रेशर के संतुलन को बिगाड़ सकती है।

शुगर के लिए अधिक मात्रा में  सेवन नुकसानदायक (Consumption in excess is harmful for sugar in Hindi)

साथ ही लोग शुगर को कम करने के लिए इसका सेवन करते हैं। लेकिन अधिक मात्रा में इसका सेवन नुकसानदायक है। इसका सेवन करने से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

पेट में जलन की समस्या (stomach irritation problem in Hindi)

जानकार का मानना है इसके अधिक सेवन से पेट में जलन की समस्या हो सकती है।

प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए नुकसान (Disadvantages for pregnant women in Hindi)

प्रेगनेंसी के दौरान या स्तनपान कराने के दौरान नीम के इस्तेमाल से परहेज करना चाहिए। 

मुंह का स्वाद बिगाड़ सकता है (can spoil the taste of the mouth in Hindi)

यदि आप अधिक नीम का सेवन करते हैं। यह मुंह के स्वाद को खराब कर सकता है।

5. नीम में पाए जाने वाले न्यूट्रिशन (Nutrition found in Neem in hindi)

  • फैटी एसिड   Fatty Acid
  • ट्राइग्लिसराइड Triglycerides
  • लीमुलाइड्स  Limuloids
  • विटामिन-E   Vitamin-E
  • कैल्शियम     Calcium
  • एंटीऑक्सीडेंट Antioxidants

6. नीम के उपयोग विभाग (Neem Uses Department in Hindi)

  • पत्तियां  
  • लकड़ी 
  • छाल   
  • फल
  • जड़

7. नीम कहां पाया जाता है (where is neem found in hindi)

गांव हो या शहर हो लगभग पूरे भारत में नीम का पेड़ देखने को मिल जाता है।

विश्व में सबसे ज्यादा नीम का पेड़ भारत बांग्लादेश पाकिस्तान नेपाल में पाया जाता है।

इस लेख में हमने अभी तक नीम के फायदे उपयोग और नुकसान जाने है। साथ ही कुछ अन्य जानकारियां भी इस लेख के माध्यम से हमने आसान हिंदी भाषा में जानी है। उम्मीद करता हूं, हेल्थी जीवन द्वारा दी गई जानकारी आपके जीवन को हेल्दी बनाने में मदद करेगी। इस लेख को पढ़ने के लिए आपका तहे दिल से धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here