1. तुलसी के फायदे Tulsi benefits and uses

0
34

तुलसी के फायदे और उपयोग

तुलसी के फायदे
तुलसी के फायदे, तुलसी के फायदे

आयुर्वेद के अनुसार तुलसी एक गुणकारी औषधि है। इसमें कई प्रकार के ऐसे गुण मौजूद हैं। जो शरीर को बीमारियों से बचाते हैं। इसे महा औषधि के नाम से भी जाना जाता है। तुलसी मैं मौजूद गुणों के कारण देश नहीं बल्कि दुनिया भर में तुलसी का उपयोग किया जाता है। यह कई प्रकार की बीमारियों के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

तुलसी कई तरीकों से अपने फाइटोकेमिकल द्वारा शरीर को स्वस्थ रखने में लाभकारी है। साथ ही शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ाती है। इस लेख के माध्यम से आज तुलसी के गुणकारी फायदे की जानकारी आपके साथ साझा करेंगे साथी इसके सेवन का तरीका और कुछ अन्य जानकारियां भी आपके साथ साझा करेंगे।

1. तुलसी के बीज के फायदे

तनाव डिप्रेशन को कम करें

तुलसी के फायदे- आज की भाग दौड़ भरी जिंदगी में लोगों पर कई तरह के प्रेशर होते हैं। स्टूडेंट्स पर पढ़ाई का प्रेशर और काम काज वाले लोगों पर काम का प्रेशर इन प्रेशर से एंजायटी तनाव डिप्रेशन की समस्या हो सकती है। तुलसी के सेवन करने से इन समस्याओं से निजात मिलता है। क्योंकि तुलसी एक बेहतरीन एडेप्टोजन होता है। जो शरीर में जाकर कोर्टिकोस्ट्रोन कम कर देता है। जिससे मूड अच्छा करने में मदद मिलती है। इसके अलावा मूडस्विंग यानी बिना किसी वजह के चिड़चिड़ा हट को भी दूर करने में तुलसी का सेवन करना फायदेमंद होता है।

 बेहतर करें  याददाश्त तुलसी के फायदे

तुलसी के फायदे दिमाग के लिए भी उपयोगी माने जाते हैं। इसके सेवन से कॉग्निटिव फंक्शन बेहतर होता है। यानी एक साथ कई तरह के काम करने की शक्ति बढ़ जाती है। साथी कॉग्निटिव फ्लैक्सिबिलिटी बढ़ती है। स्पष्ट शब्दों में कहें तो आपके समझने और याद रखने की शक्ति बढ़ जाएगी और आप अपने काम में अच्छे से ध्यान लगा सकेंगे।

अनिद्रा के लिए

तुलसी के फायदे अनिद्रा की समस्या को  दूर करता है। इसके सेवन से गहरी नींद आती है। साथ ही जब आप सोकर उठते हैं। तो सोकर उठने वाली आलस चेहरे पर दिखाई नहीं देती और आप तरोताजा महसूस करते हैं।

मुंह की दिक्कत के लिए 

तुलसी के फायदे मुंह के तीन रोग के लिए यह बहुत ही उपयोगी होती है। मुंह में छाले होना दांत खराब और सांस में बदबू आना कि समस्या को तुलसी दूर करता है। इसके लिए वन तुलसी के पत्तों को धूप में सुखाकर चूर्ण बना लिया जाता है। और सुबह मंजन के रूप में 1 ग्राम पाउडर और 1 ग्राम सरसों के तेल के साथ इस्तेमाल किया जाता है। इसके अलावा यह दांतों में ठंडा गरम या खट्टा लगने की समस्या भी खत्म करता है।

डाइजेस्टिव सिस्टम के लिए 

तुलसी के फायदे डाइजेस्टिव की कई समस्याओं में देखे जा सकते हैं। ब्लोटिंग, नोजिया, वोमीटिंग, इनडाइजेशन, डायरिया, डाईसेंट्री और हिककप्स। इसके अलावा खट्टी डकार आने पर एसिडिटी की समस्या मैं तुलसी का सेवन फायदेमंद होता है।

लीवर के लिए तुलसी के फायदे

लीवर के लिए तुलसी के फायदे हर प्रकार से अच्छे माने जाते हैं। तुलसी एक डीटॉक्सिफाई औषधीय है। और लीवर भी डीटॉक्सिफाई का काम करता है। हमारे डेली खान पान बन्द पैकेट में बेचे जाने वाले फूड्स और कई प्रकार के फास्ट फूड का महत्व बढ़ गया है। जिसमें कई प्रकार के केमिकल होते हैं। जो शरीर में टॉक्सिंस बढ़ाने का काम करते हैं। अगर तुलसी का सेवन किया जाए तो डीटॉक्सिफाई का प्रोसेस अधिक हो जाता है। जिससे लिवर का काम आसान हो जाता है, और लीवर स्वस्थ रहता है।

किडनी के लिए

किडनी के स्वास्थ्य के लिए तुलसी का सेवन अच्छा माना जाता है। तुलसी एक बेहतरीन Diuretic होती है, जो खून में यूरिन एसिड को सामान्य करने में उपयोगी मानी जाती है। यदि शरीर में यूरिक एसिड का स्तर बढ़ जाता है, तो किडनी में स्टोन होने की संभावना भी बढ़ जाती है। तुलसी के सेवन से यूरिन एसिड नॉर्मल बना रहता है।

साथ ही पथरी यूरिन के जरिए बाहर निकल जाती है। साथी प्रोटीन का सेवन करना बॉडीबिल्डिंग वालों के लिए फायदेमंद होता है। क्योंकि वह बॉडी बनाने के लिए तरह-तरह के प्रोटीन का इस्तेमाल करते हैं। जिससे यूरिक एसिड का खतरा भी बढ़ जाता है। इस खतरे को कम करने के लिए तुलसी का सेवन करना फायदेमंद हो सकता है।

रेस्पिरेटरी सिस्टम

रेस्पिरेटरी डिसऑर्डर और रेस्पिरेटरी डिसीज़ के लिए बनने वाली आयुर्वेद की सभी दवाओं में तुलसी का इस्तेमाल किया जाता है। इसके अलावा तुलसी एक बेहतरीन एक्सपेकटोराइट जो कफ को शरीर से ढीला कर के बाहर निकालता है साथ ही सर्दी जुकाम खासी को भी ठीक करता है।

लिपिड प्रोफाइल करें बेहतर

तुलसी रेगुलर सेवन से लिपिड प्रोफाइल बेहतर होता है। साथ ही सीरम कोलेस्ट्रॉल, ट्राइग्लिसराइड और फास्फोलिपिड लोअर LDL का स्तर कम करने में मदद मिलती है।

तुलसी का सेवन करने का एक बहुत बड़ा फायदा है यह शरीर में एचडीएल कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ाने का काम करता है। जो कि स्वास्थ्य के लिए अच्छा माना जाता है।

स्टैमिना के लिए

तुलसी के फायदे- तुलसी खाने के फायदे स्टेमिना बढ़ाने के लिए भी उपयोगी माने जाते हैं। तुलसी मैं पाए जाने वाले गुण शरीर से ऑक्सीजन को कंज्यूम करके, साथ ही उसे प्रोसेस करके, उसमें से एनर्जी को निकालने की क्षमता को बढ़ा देती है। यदि शरीर में ऑक्सीजन का प्रोसेस अच्छे से होता है। तो शरीर में लैक्टिक एसिड बनता है। जिस कारण हमारी बॉडी को किसी भी प्रकार का काम करने के लिए धैर्य व लंबे समय तक कार्य करने के लिए ताकत मिलती है। जो लोग तुलसी का सेवन करते हैं। उनमें ताकतवर स्टेमिना की कोई कमी नहीं रहती है। इसलिए स्टेमिना और ताकत बढ़ाने के लिए तुलसी का उपयोग किया जा सकता है।

बुखार के लिए तुलसी के फायदे

तुलसी एक बेहतरीन डाईफोरेटिक होती है। जो नेचुरल तरीके से पसीना लाकर बुखार उतारने का काम करता है। जिसका शरीर पर किसी भी प्रकार का कोई भी साइड इफेक्ट नहीं होता है। इसलिए तुलसी को बुखार के लिए रामबाण औषधि माना जाता है।

दर्द निवारक है तुलसी

अगर आपके शरीर में कहीं पर भी किसी प्रकार का दर्द रहता है। तुलसी का सेवन करना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। यह दर्द निवारण का भी काम करता है। इसी कारण से इसे महा औषधीय कहा जाता है।

  • आयुर्वेद मैं तुलसी को रसायन माना जाता है क्योंकि तुलसी में बहुत अच्छी मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं। जो शरीर से फ्री रेडिकल से होने वाले नुकसान को कम करने में मददगार साबित होते हैं। इसके अलावा तुलसी का सेवन शरीर से। हेवी मेटल को बाहर निकालने का काम करता है। यह हेवी मेटल हमारे शरीर के लिए नुकसानदायक होते है। जिससे तुलसी हमें बचाने में मदद करता है। जैसे- लीड, आर्सेनिक, कार्डिमियम, क्रोमियम ओर मरकरी।

2. तुलसी के फायदे सुंदर में भी देखे जा सकते हैं।

तुलसी में anti-inflammatory, एंटी एलर्जी, एंटीबैक्टीरियल और एंटीवायरल गुड़ मौजूद होते हैं। जो त्वचा की समस्या मैं लिए लाभकारी होते हैं। तथा त्वचा को निखारने में मदद करते हैं। जो सुंदरता बढ़ाने का काम करते हैं।

खाली पेट तुलसी के फायदे
तुलसी के फायदे तुलसी के फायदे

3. पुरुषों के लिए तुलसी के फायदे

जिन पुरुषों को सेक्सुअल समस्याएं हैं। उनके लिए तुलसी के बीज एक बेहतरीन औषधीय की तरह है। जो इस तरह की समस्या का निवारण करने में काफी मददगार है।

यह शरीर में स्तंभ क्वालिटी स्पर्म, स्पर्म क्वांटिटी और स्पर्म मोतिलिटी बेहतर करने का काम करता है। साथ ही संभोग समय को भी बढ़ाता है। इस समस्या से निपटने के लिए तुलसी के बीज का प्रयोग।

1 ग्राम तुलसी और 10 ग्राम मिश्री 250ml दूध के साथ 3 माह तक सेवन करने से संभोग टाइम मैं कई गुना इजाफा होता है।

जिन पुरुषों की शादी होने वाली है, और वह इस समस्या से जूझ रहे हैं। तो तुलसी के बीज का यह प्रयोग उनके लिए काफी असरदार होगा यह 1 महीने के भीतर इस समस्या को बहुत हद तक कम कर देता है। इसलिए इस समस्या के लिए कोई और आयुर्वेदिक औषधि की जगह इस नुस्खे का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

 तुलसी के फायदे जानने के बाद आइए जानते हैं किसका उपयोग कैसे करें 

4. तुलसी का उपयोग 

  • इसका उपयोग करने के लिए तुलसी के पत्तों की जरूरत पड़ेगी। वन तुलसी, श्याम तुलसी और राम तुलसी इन तीनों ही पौधों के पांच पांच पत्ते एक गिलास पानी में अच्छी तरह से उबालें, और तब तक उबालें जब तक कि वह पानी आधा ना हो जाए। सुबह और शाम की चाय की जगह इस प्रयोग का इस्तेमाल कर सकते हैं। ऐसा करने से तुलसी के ढेरों फायदे आपको मिलेंगे जिससे आप स्वस्थ और मस्त रहेंगे।

5. खाली पेट तुलसी खाने के फायदे

  • खाली पेट तुलसी के पत्तों का सेवन करने से आंतरिक और बाहरी स्वास्थ्य में लाभ होता है। इसमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है। जो प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करके शरीर को स्वस्थ रखने का कार्य करते हैं।
  • खाली पेट तुलसी के पत्ते चबाने के फायदे

यदि आप खाली पेट तुलसी के पत्ते जब आते हैं। यह आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। इसके पत्तों में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट शरीर को फ्री रेडिकल के खतरे से बचाने में मदद करता है साथ ही सूजन की समस्या को भी कम करता है।

  • कैंसर के जोखिम को कम करता है

तुलसी के पत्ते में एन्टी कार्सिओजेनिक और एन्टी और एंटीऑक्सीडेंट होते हैं। जो रक्त प्रवाह को कम करके ओरल और वेस्ट कैंसर को रोकने में मदद करते हैं। जिससे इस प्रकार के कैंसर का खतरा टल जाता है।

  • ब्लड शुगर को करें कंट्रोल

डायबिटीज के रोगियों के लिए सुबह खाली पेट तुलसी के पत्ते चबाना फायदेमंद होता है। इसके अलावा शरीर में कार्बोहाइड्रेट मेटाबॉलिज्म सही रहता है। जिससे रक्त में मौजूद शुगर एनर्जी देने का काम करता है।

  • फेफड़ों के लिए है फायदेमंद

तुलसी के पत्ते मैं मौजूद कैफ़ीन, विटामिन सी, सिनरोल और यूजिनॉल से भरपूर होते हैं। जो फेफड़े के रोगों के लिए फायदेमंद माने जाते हैं।

  • जोड़ों के दर्द के लिए फायदेमंद

तुलसी के पत्तों में पाए जाने वाले गुण सूजन और घटिया रोग को कम करने में लाभकारी होते हैं। इसलिए खाली पेट तुलसी के पत्तों का सेवन करना काफी हद तक घटिया और जोड़ों के दर्द के लिए फायदेमंद हो सकता है।

  • तनाव से दिलाता है राहत

तुलसी के पत्ते मैं मौजूद स्ट्रेस हार्मोन कॉर्टिसोल लेवल को बनाए रखने में सहायक होता है। शरीर में कॉर्टिसोल लेवल कम होने से तनाव के साथ-साथ दिमाग फ्रेश रहता है। और बेचैनी भी नहीं होती।

  • सर्दी खांसी करें दूर

तुलसी के पत्तों में पाए जाने वाला यूजिनॉल एंटी ऑक्सीडेंट शरीर से बलगम को बाहर निकालने में मदद करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here